ब्लड ग्रुप के प्रकार और उनका महत्व (Types of blood group and their importance)

Types of blood group and their importance
ब्लड ग्रुप का इतिहास.

ऑस्ट्रिया में जन्मे अमेरिकी फिजिशियन कार्ल लैंडस्टीनर ने 1901 में सबसे महत्वपूर्ण रक्त समूहों में से एक, एबीओ रक्त प्रणाली (ABO blood system) की खोज की थी. इस महत्वपूर्ण खोज के लिए कार्ल लैंडस्टीनर को नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया है. बाद में उन्होंने 1930 में Rh ब्लड ग्रुप प्रणाली और इसके साथ ही RhD एंटीजन की भी खोज की थी. रक्त में पाए जाने वाले लाल कोशिकाओं की सतह पर एक विशिष्ट एंटीजन की उपस्थिति या अनुपस्थिति से ब्लड ग्रुप निर्धारित किया जाता है. 

ब्लड ग्रुप महत्वपूर्ण क्यों है?

यदि दो अलग-अलग ब्लड ग्रुप मिश्रित हो जाते हैं, तो यह रक्त कोशिकाओं की समस्या का कारण बन सकता है जो संभावित रूप से मरीज के लिए घातक हो सकता है. इसलिए किसी भी मरीज को रक्त चढाने के दौरान सही रक्त देना महत्वपूर्ण होता है, इसका मतलब यह है कि रक्तदाता का रक्त मरीज के ब्लड ग्रुप से मिलाफ करने योग्य होना चाहिए. इसलिए किसी मरीज को रक्तदान करने से पहले, आपके ब्लड ग्रुप का परीक्षण किया जाता है.

ब्लड ग्रुप के चार मुख्य प्रकार हैं.

खून में लाल रक्त कोशिकाओं के आलावा सफेद रक्त कोशिकाएं, प्लेटलेट्स और एंटीजन भी होते हैं, जो शरीर की रोग प्रतिरोधक प्रणाली का हिस्सा होते हैं. एंटीजन प्रोटीन या शर्करा हो सकते हैं जो लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर पाए जाते है. इनमें से कुछ एंटीजन ब्लड ग्रुप निर्धारित करते हैं.

मानव ब्लड ग्रुप में 2 रक्त प्रणालियां होती हैं, ABO प्रणाली और Rh प्रणाली: 

A, B, AB और O ये सभी लाल रक्त कोशिकाओं पर विभिन्न एंटीजन की उपस्थिति से निर्धारित होते है. ब्लड ग्रुप A का मतलब है कि आपके लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर A एंटीजन है, जबकि ब्लड ग्रुप B का मतलब है कि आपके पास B एंटीजन है. ब्लड ग्रुप AB में लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर A और B दोनों एंटीजन मौजूद होते हैं, लेकिन ब्लड ग्रुप O में किसी भी तरह के एंटीजन मौजूद नहीं होते है.

Rh लाल रक्त कोशिकाओं की सतह पर पाया जाने वाला एक प्रोटीन घटक है. यदि आपके रक्त में प्रोटीन है, तो आप Rh+ हैं. यदि आपके रक्त में प्रोटीन की कमी है, तो आप Rh- हैं. Rh+ सबसे आम  ब्लड ग्रुप है. प्रत्येक ब्लड ग्रुप या तो RhD पॉजिटिव या RhD नेगेटिव हो सकता है, जिसका अर्थ है कुल मिलाकर ब्लड ग्रुप के आठ प्रकार बनते है.

इसका मतलब है कि आप का ब्लड ग्रुप इन आठ ब्लड ग्रुप में से एक हो सकता हैं:

  1. A RhD positive (A+)
  2. A RhD negative (A-)
  3. B RhD positive (B+)
  4. B RhD negative (B-)
  5. O RhD positive (O+)
  6. O RhD negative (O-)
  7. AB RhD positive (AB+)
  8. AB RhD negative (AB-)
अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *