सभी वेद, उपवेद, वेदांग के नाम अब करे चुटकियों में याद

सभी वेद, उपवेद, वेदांग के नाम अब करे चुटकियों में याद (Remember the names of all the Vedas, Upavedas, Vedangas quickly)

सभी वेद, उपवेद, वेदांग के नाम अब करे चुटकियों में याद (Remember the names of all the Vedas, Upavedas, Vedangas quickly)

हम में कई लोगों को अक्सर वेद, उपवेद, और वेदांग से लेकर मने में भ्रम की स्थिति बन जाती है. हम अक्सर आसानी से याद नहीं कर पाते की कोनसा वेद, उपवेद, और वेदांग है, भलेही इनके नाम हमने कई बार सुने होते है लेकिन हम इन्हें सही ढंग से श्रेणीबद्ध करना नहीं जानते. इसी समस्या को सुलझाने के लिए आज हम एक आसान सा तरीका अपनायेगे जिससे की आप वेद, उपवेद, और वेदांग के नामों को हमेशा के लिए याद कर पाएंगे. 

वेदों के नाम

वेद दुनिया के प्रथम धर्मग्रंथ है. इसी के आधार पर दुनिया के अन्य धर्मों की उत्पत्ति हुई हैं. वेदों की संख्या 4 है, और केवल दो शब्दों से हम चारों वेदों के नाम आसानी से याद रख सकते है.

{ सारी आयु }

शब्द का अक्षर  वेद
सा              सामवेद
री              ऋग्वेद
आ              अथर्ववेद
यु              यजुर्वेद

उपवेदों के नाम

चार वेदों से बनी उप-शाखाओं रूपी वेद ज्ञान को उपवेद कहते हैं. चार वेद हैं और इसी तरह चार उपवेद हैं, और केवल तीन शब्दों से हम चारों उपवेदों के नाम आसानी से याद रख सकते है.

{ गंध सी आय }

शब्द का अक्षर  उपवेद
गं              गन्धर्ववेद
ध              धनुर्वेद
सी              स्थापत्यवेद
आय              आयुर्वेद

वेदांगों के नाम

वेदों को भली भांति समझने के लिये छ: वेदांगों की रचना हुई हैं, और केवल चार शब्दों से हम सभी छ: वेदांगों के नाम आसानी से याद रख सकते है.

{ निशि कब जाय छ: }

शब्द का अक्षरवेदांग
निनिरुक्त
शिशिक्षा
कल्प
व्याकरण
जायज्योतिष
छ:छन्द

सारांश:-

सारी आयु गंध सी आय निशि कब जाय छ:

चौदह (14) विद्या और चौसठ (64) कलाएं – 14 Vidya (Techniques) 64 Kala (Art forms)

अष्ट (8) सिद्धियां और नौ (9) निधियां

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *