प्लेटो के अनमोल विचार और कथन – Quotes and Thoughts of Plato in Hindi

प्लेटो के अनमोल विचार और कथन - Quotes and Thoughts of Plato in Hindi

प्लेटो Plato (427 BC – 347 BC), 5 वीं शताब्दी ईसा पूर्व के सबसे महत्वपूर्ण यूनानी दार्शनिकों में से एक थे, वह सुकरात के छात्र और अरस्तू के शिक्षक थे, उन्होंने एथेंस में अकादमी की स्थापना की. प्लेटो को अद्वितीय प्रभाव के दार्शनिक कार्यों के लेखक के रूप में जाना जाता है. अपने लिखित संवादों में उन्होंने अपने शिक्षक सुकरात के विचारों और तकनीकों को अवगत कराया और उनका विस्तार किया.

प्लेटो के अनमोल विचार और कथन – Quotes and Thoughts of Plato in Hindi 

1. मनुष्य का खुद पर नियंत्रण उसकी सबसे महत्वपूर्ण जीत है.

2. बुद्धिमान आदमी इसीलिए बोलता है क्योंकि उसके पास बोलने के लिए या दूसरों के साथ साझा करने के लिए कई अच्छी बातें होती हैं, लेकिन एक बेवकूफ़ व्यक्ति इसीलिए बोलता है क्योंकि उसे कुछ न कुछ बोलना होता है.

3. कोई भी व्यक्ति किसी ऐसे व्यक्ति का दोस्त नहीं हो सकता है जिससे उसे प्यार न मिले.

4. मनुष्य का व्यवहार तीन चीजों से बना है; रुचियां, भावनाएं और जानकारी.

5. सोचने का अर्थ है कि आपकी आत्मा स्वयं के साथ बातचीत कर रही है.

6. इंसान द्वारा किया गया अच्छा व्यवहार उसे ताकत देता है और दूसरों को भी उसी तरह से व्यवहार करने के लिए प्रेरित करता है.

7. कोई भी अच्छा निर्णय जानकारियों पर निर्भर करता है, आंकड़ों या संख्याओं पर नहीं.

8. कम चीजों के साथ जीवन जीना सबसे बड़ी दौलत है.

9. मनुष्य में एक शक्ति है जो आपको आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित कर सकती है या यहां तक कि अपने पंख काट सकती है और आगे बढ़ने के लिए रास्ता बंद कर सकती है. यह आप पर निर्भर करता है कि आप कौन सी ताकत अपनाते हैं.

10. जीवन में सबसे बड़ी बाधा हर समय स्वास्थ्य के बारे में चिंता करना है.

11. दो चीजें हैं जिनके बारे में आदमी को कभी गुस्सा या नाराजगी नहीं करनी चाहिए; पहला, वह किसकी मदद कर सकता है? दूसरा, वह किन लोगों की मदद नहीं कर सकता.

12. काम की शुरुआत करना इसका सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है.

13. कोई भी कानून या अध्यादेश आपकी समझ से ज्यादा मायने नहीं रखता.

14. एक व्यक्ति जो अच्छा काम करना नहीं जानता, वह दूसरों से अच्छा काम कराने का कौशल भी नहीं समझ सकता. 

15. बार-बार अच्छा कर्म करने से किसी का कोई नुकसान नहीं होता.

16. तीन तरह के लोग होते हैं – पहला, जो बुद्धिमान बनना चाहता है. दूसरा, जो अपनी प्रतिष्ठा से प्यार करता है और तीसरा, जो जीवन में कुछ हासिल करना चाहता है.

17. प्राथमिक कक्षा में अच्छा प्रशिक्षण प्राप्त करना शिक्षा का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है.

18. यदि कोई व्यक्ति पढ़ना पसंद नहीं करता है, तो वह अपने जीवन के अंतिम दिनों में पूरी तरह से अकेला दिखाई देता है.

19. जिस समाज में कोई अमीर या कोई गरीब नहीं होता है, वहां लोगों में केवल अच्छे संस्कार पाए जाते हैं.

20. जो व्यक्ति दूसरों पर शासन करना चाहता है, वह कभी शासन नहीं कर सकता. जैसे कोई व्यक्ति किसी को पढ़ाने के लिए दबाव महसूस करके एक अच्छा शिक्षक नहीं बन सकता.

21. एक नायक सौ लोगों में से एक पैदा होता है, एक बुद्धिमान व्यक्ति हजारों में एक पाया जाता है, लेकिन एक संपूर्ण व्यक्ति एक लाख लोगों में भी नहीं पाया जा सकता है.

22. सभी लोग स्वाभाविक रूप से एक समान हैं, एक ही ईश्वर द्वारा एक ही मिट्टी से बनाये जाते हैं; और हम अपने आप को कितना भी धोखा क्यों न दे कोई फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि ईश्वर के लिए एक शक्तिशाली राजकुमार जितना प्यारा है उतना ही गरीब किसान है.

23. कोई भी व्यक्ति किसी अन्य व्यक्ति को आसानी से नुकसान पहुंचा सकता है, लेकिन हर व्यक्ति दूसरों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं कर सकता है.

24. अपने आप को इस जीवन में और अगले जीवन में भी कर्मशील बनाये. आप प्रयास के बिना समृद्ध नहीं बन सकते. यदि भूमि उपजाऊ है, तो भी इसे खेती के बिना विपुलता में नहीं उगाया जा सकता है.

25. जैसा कि शिल्पकार कहता है; छोटे पत्थरों के बिना, बड़े पत्थर उचित रूप से नहीं रचे जा सकते हैं.

26. प्रेम का स्पर्श भी सभी को कवि बनाता है.

27. कोई भी कार्य जिसे थोड़ा सा लेकिन बेहतर करना बजाय बहुत मात्रा में लेकिन अपूर्णता से करने से बेहतर है.

28. साहस एक प्रकार की मुक्ति है.

29. साहस का अर्थ है कि किससे नहीं डरना चाहिए.

30. चालाकी… बुद्धिमत्ता की सुलभ नकल है.

31. मौत, इंसान के साथ घटित होने वाली सबसे बुरी चीज नहीं है.

32. लोकतंत्र तानाशाही में बदल जाता है.

33. स्वतंत्रता की अधिकता, चाहे वह राज्यों या व्यक्तियों में निहित हो, केवल गुलामी की अधिकता में बदल जाती है.

34. एक व्यक्ति के लिए, स्वयं पर विजय हासिल करना सभी जीतों में से पहली और महान होती है.

35. सद्गुणों के बदले पृथ्वी के अंदर और ऊपर का सभी सोना देना भी पर्याप्त नहीं है.

36. यदि हर व्यक्ति अपनी प्राकृतिक क्षमता के अनुसार, अन्य कार्यों में न उलज़ते हुए, सही समय पर सिर्फ एक काम करता, तो हर एक काम बेहतर से और बेहतर होता. 

37. अच्छे कर्म स्वयं को ताकत देते हैं और दूसरों को अच्छे कर्म करने के लिए प्रेरित करते हैं.

38. ज़िम्मेदार लोगों को ज़िम्मेदारी से जीने के लिए कानून की आवश्यकता नहीं है, और बुरे लोग कानून से बचते हैं और काम करने का एक तरीका ढूंढते हैं.

39. शायद ही कोई व्यक्ति दो कलाओं या प्रथाओं को एक साथ करने की क्षमता रखता है.

40. जो एक अच्छा नौकर नहीं है वह एक अच्छा मालिक नहीं बन सकता है.

41. वह जो कम चुराता है वो उसी इच्छा के साथ चुराता है जितना की अधिक चुराने वाला, लेकिन कम शक्ति के साथ.

42. बेईमानी की तुलना में ईमानदारी अक्सर कम लाभदायक होती है.

43. आप यह कैसे साबित कर सकते हैं कि इस समय हम सो रहे हैं, और हमारी सारी सोच एक सपना है; या हम जाग रहे हैं और इस अवस्था में एक दूसरे से बात कर रहे हैं?

44. मैंने कभी भी कुछ भी उपयोग करने लायक चीज संयोग से नहीं बनाई, और न ही मेरा कोई आविष्कार संयोगवश हुआ है, वह काम करने से हुआ है.

45. मेरा मानना है कि आपके मौन का अर्थ सहमति हैं.

46. यदि कोई व्यक्ति शिक्षा को नजरअंदाज करता है, तो वह लंगडाते हुए अपने जीवन के अंत की ओर बढ़ रहा होता है.

47. अज्ञान ही समस्त बुराइयों का मूल कारण है.

48. यह एक आम कहावत है, और हर कोई कहता है कि जीवन केवल एक छोटा पड़ाव है.

49. यह उचित है कि प्रत्येक व्यक्ति को वह दिया जाए जिसके लिए वह हकदार हैं.

50. उद्देश्य अच्छा न होने पर ज्ञान बुराई बन जाता है.

51. मजबूरी के तहत हासिल किया गया ज्ञान दिमाग में नहीं टिक सकता.

52. बिना न्याय के ज्ञान को बुद्धिमत्ता नहीं बल्कि चालाकी कहा जाना चाहिए.

53. प्यार एक गंभीर मानसिक बीमारी है.

54. आवश्यकता आविष्कार की जननी है.

55. भले व्यक्ति के साथ बुरा नहीं हो सकता, न तो इस जीवन में और न ही मृत्यु के बाद.

56. इंसानों के जीवन में ऐसा कुछ नहीं है जिसके लिए बहुत चिंता की जाये.

57. एक व्यक्ति एक साथ कई कलाओं में सफल नहीं हो सकता.

58. राजनीति में भाग न लेने का दंड यह है कि आपको अपने से निम्न लोगों द्वारा शासित होना पड़ता है.

59. केवल मृत लोगों ने युद्ध का अंत देखा है.

60. राज्य के गठन का हमारा हेतु किसी भी वर्ग का नहीं, सभी का सर्वोच्च आनंद है.

61. लोग धूल की तरह होते हैं, या तो वे आपको पोषित कर सकते हैं और एक व्यक्ति के रूप में विकसित होने में आपकी सहायता कर सकते हैं, या वे आपकी वृद्धि को रोककर और थका कर आपको मार सकते हैं.

62. कवि ऐसी महान और ज्ञानवर्धक बातें कहते हैं जिन्हें वह खुद नहीं समझते.

63. विज्ञान कुछ नहीं बस धारणा है.

64. देश मनुष्य की तरह होते हैं, वे मानव चरित्र के साथ विकसित होते हैं.

65. दोषी वही है जो चुनता है; ईश्वर निर्दोष है.

66. एक समुदाय जहां न तो गरीबी है और न ही समृद्धि, वह हमेशा महान सिद्धांतों से बना होता है.

67. जिस दिशा में शिक्षा व्यक्ति को आगे बढ़ाती है वह जीवन में उसके भविष्य को निर्धारित करती है.

68. ईश्वर की सेवा सहनीय है और मनुष्य की असहनीय.

69. सबसे बड़ा धन काम में संतोषजनक ढंग से जीना है.

70. आदमी की पहचान इस बात से होती है कि वह सत्ता में कैसे व्यवहार करता है.

71. अच्छी बात को दोहराने में कोई बुराई नहीं है.

72. प्रेम-प्रतिज्ञा जैसी कोई चीज नहीं है.

73. जो लोग महान बनना चाहते हैं, उन्हें खुद से या अपने काम से प्यार नहीं करना चाहिए, उन्हें बस उसे ही प्यार करना चाहिए जो सही हो, चाहे वह उनके द्वारा किया गया हो या किसी और के द्वारा.

74. आप एक वर्ष की बातचीत के बजाय एक घंटे के खेल में किसी व्यक्ति के बारे में अधिक जान सकते हैं.

75. जहां आयकर होता है, वहा उपयुक्त व्यक्ति अनुचित आय की तुलना में उसी आय पर अधिक कर का भुगतान करेगा.

76. धन को महान दिलासा देने वाला माना जाता है.

77. माता-पिता को अपने बच्चों को श्रद्धा की भावना देनी चाहिए, धन की नहीं.

78. जीवन को एक नाटक की तरह जीना चाहिए.

79. मनुष्य – ‘अर्थ’ की तलाश में एक प्राणी है. 

80. अगर हम आत्मविश्वास से लड़ते हैं तो हमारी शक्ति दोगुनी हो जाती है.

81. मैं शायद ही कभी किसी ऐसे गणितज्ञ से मिला हूं जो जानता हो कि कैसे तर्क करना चाहिए.

82. वह एक बुद्धिमान व्यक्ति था जिसने बीयर का आविष्कार किया था.

83 हर किसी के प्रति दयालु रहें, क्योंकि आप जिस किसी से भी मिलते हैं वह कठिन जीवन लड़ रहा होता है.

84. हम एक बच्चे को आसानी से माफ कर सकते हैं जो अंधेरे से डरता है, लेकिन जीवन की असली त्रासदी तब है जब मनुष्य प्रकाश से डरते हैं.

85. प्यार अच्छाई की खुशी, बुद्धिमानों का आश्चर्य और ईश्वर की श्रद्धा है.

86. गोबर की टोकरी चमकते हुए सोने से जड़ी अनुपयोगी ढाल से अधिक सुंदर होती है.

87. संगीत एक नैतिक नियम है. यह आत्मा को ब्रह्मांड, दिमाग को पंख, कल्पना को उड़ान, और जीवन को हर चीज के लिए आकर्षण और उल्लास देता है.

88. हमारे पास जो शिक्षा और ज्ञान है, वह सबसे अधिक है, लेकिन उसकी तुलना में थोड़ा कम है जिससे हम अनभिज्ञ हैं.

89. लोकतंत्र… सरकार का एक आकर्षक रूप है, विविधता और विकार से भरा हुआ; और बराबरी और असमान के लिए समानता का एक प्रकार का प्रतिपादन है.

90. वह जो अन्याय करता है, वह हमेशा ही पीड़ित व्यक्ति की तुलना में अधिक घृणायोग्य बन जाता है.

रेने डेस्कर्टेस के अनमोल विचार – René Descartes Quotes And Thoughts in Hindi

एपिक्यूरस के अनमोल विचार – Epicurus Quotes in Hindi

विंस्टन चर्चिल के अनमोल विचार – Winston Churchill Quotes in Hindi

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *