दुनिया के 10 सबसे पुराने शहर – 10 oldest cities in the world in Hindi

10 oldest cities in the world in Hindi - दुनिया के 10 सबसे पुराने शहर

दुनिया के हर शहर की एक कहानी, संस्कृति और सभ्यता होती है लेकिन बहुत कम शहर ऐसे होते है जिनका एक यादगार इतिहास भी होता है. इन ऐतिहासिक शहरों के नीचे की जमीन और शायद कुछ दीवारें न केवल सदियों से, बल्कि सहस्राब्दियों से निरंतर मानव बदलाव, विकास और उन्नति का प्रमाण देती आ रही हैं.

ऐतिहासिक शहर दिलचस्प इतिहास, सुंदर वास्तुकला और विकसित हो रही मानव सभ्यताओं के निशान को प्रदर्शित करते हैं. अगणित मानवी आक्रमणों, हिंसाचार और भौगोलिक आपदाओं के बावजूद भी दुनिया के अधिकांश प्राचीन शहर समय की कसौटी पर खरे उतरे हैं. तो आइए एक नजर डालते हैं दुनिया के सबसे पुराने शहरों पर जो समय के साथ आज भी फल-फूल रहे हैं.

दमास्कस, सीरिया (Damascus, Syria) – 11,000 वर्ष पुरातन

दमास्कस सीरिया की राजधानी है और इस्लाम का चौथा सबसे पवित्र शहर है, दमास्कस को अरब संस्कृति की राजधानी के रूप में भी जाना जाता है. इसे ‘पूर्व का मोती’ भी कहा जाता है.

दमास्कस दुनिया का सबसे पुराना शहर है जिसने कई महान सभ्यताओं के उत्थान और पतन को देखा है. शोध प्रमाणित अध्ययनों और ऐतिहासिक साक्ष्यों के अनुसार, दमास्कस शहर पहली बार सातवीं शताब्दी ईसा पूर्व के उत्तरार्ध में बसा था.

यह दुनिया का सबसे पुराना आवासीय शहर है और अरब दुनिया का एक प्रमुख सांस्कृतिक केंद्र भी है. आज, दमास्कस बीस लाख से अधिक आबादी वाला एक महानगरीय क्षेत्र है और 2008 में इसे अरब संस्कृति की राजधानी का दर्जा दिया गया था.

अलेप्पो, सीरिया (Aleppo, Syria) – 8,000 वर्ष पुरातन

अलेप्पो शहर ‘अलेप्पो गवर्नमेंट’ की राजधानी के रूप में कार्य करता है, और यह 8,000 से अधिक वर्षों से पुराना है. एक तथ्य यह भी है कि यहां मानव बस्तियों के अवशेष 11,000 ईसा पूर्व से मिले हैं. अलेप्पो शहर वास्तव में भूमध्य सागर और ‘मेसोपोटामिया’ के बीच स्थित है, और इसकी भौगोलिक स्थिति के कारण, यह प्राचीन युग के दौरान एक महत्वपूर्ण व्यापारिक केंद्र बन गया.

अलेप्पो शहर का ऐतिहासिक महत्व सिल्क रोड के एक छोर पर इसका भौगोलिक स्थान रहा है, जो मध्य एशिया और मेसोपोटामिया से होकर गुजरता था. 

हालांकि, अलेप्पो में सीरियाई सरकार और विद्रोहियों के बीच गृहयुद्ध का शहर के कई आम लोगों के जीवन पर विनाशकारी प्रभाव पड़ा. हजारों लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी और कई लोगों को अपने घरों से बेघर होकर भागने के लिए मजबूर होना पड़ा, अलेप्पो 2012 से इस तबाही का सामना कर रहा है.

बाइब्लोस, लेबनान (Byblos, Lebanon) – 7,000 वर्ष पुरातन

बाइब्लोस, प्राचीन बंदरगाह, यह शहर भूमध्य सागर के तट पर स्थित है, आधुनिक शहर ‘बेरूत’ से लगभग 20 मील उत्तर में है. ऐसा माना जाता है कि यह पहली बार 8800 से 7000 ईसा पूर्व के बीच मनुष्यों द्वारा अधिवासित कर लिया गया था और 5000 ईसा पूर्व से लगातार बसा हुआ है. इसके अलावा, यह शहर यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में भी शामिल है. ऐसा माना जाता है कि ग्रीस में ‘पपीरस’ का पहला आयात इसी शहर से हुआ था. बाइब्लोस पूर्वी भूमध्य सागर में सबसे लकड़ी का महत्वपूर्ण जलमार्ग यातायात केंद्र के रूप में विकसित हुआ था और मिस्र के साथ इसके संबंध भी बहुत करीबी थे.

अर्गोस, ग्रीस (Argos, Greece) – 7,000 वर्ष पुरातन

अर्गोस, ग्रीस का एक शहर है, और यह दुनिया के सबसे पुराने अनवरत रूप से बसे हुए शहरों में से एक है. शोध के अनुसार, अर्गोस पूरे इतिहास में हमेशा तटस्थ रहा और उसने कभी भी ग्रीक-फारसी युद्धों में भाग नहीं लिया था. अर्गोस पुराने समय से घोड़ों के लिए प्रसिद्ध रहा है. ग्रीक सभ्यता के लिए अर्गोस हमेशा एक महत्वपूर्ण केंद्र था. अर्गोस का प्राचीन इतिहास 6000 साल पुराना है, हालांकि आज इसके पूर्व गौरव के अधिकांश अवशेष जमीन के नीचे दबे हुए हैं.

एथेंस, ग्रीस (Athens, Greece) – 7,000 वर्ष पुरातन

एथेंस ग्रीस की राजधानी और सबसे बड़ा शहर है. यह शहर तत्त्वविज्ञान का प्राचीन निवास और पश्चिमी सभ्यता का जन्मस्थान भी है. दरअसल, इस शहर का अस्तित्व सुकरात, प्लेटो और अरस्तू के दिनों से बहुत पहले का बताया जाता है. यह एक ऐसा शहर था जहां बहुत सारी खूबसूरत सार्वजनिक इमारतें, दुकानें और सार्वजनिक स्नानागार थे. आज, एथेंस एक विशाल महानगर और यूरोप का सबसे पुराना राजधानी शहर है.

सुसा, ईरान (Susa, Iran) – 6,300 वर्ष पुरातन

सुसा दुनिया के सबसे पुराने शहरों में से एक था और इस शहर का कुछ हिस्सा अभी भी शुश, खुज़ेस्तान प्रांत, ईरान के रूप में बसा हुआ है. इसका स्थान टाइग्रिस नदी के करीब था और इसलिए यह प्राचीन दुनिया के सबसे महत्वपूर्ण शहरों में से एक बन गया था. आज का आधुनिक ईरानी ‘शुश’ शहर प्राचीन सुसा के स्थान पर स्थित है. माना जाता है कि सुसा शहर को अश्शूरियों द्वारा एक बार पूरी तरह से नष्ट कर दिया गया था, लेकिन फिर जलदगति से शहर का पुनर्निर्माण किया गया और फिर इसने फारसी साम्राज्य के दौरान अपने सबसे शानदार युग को देखा.

एरबिल, इराकी कुर्दिस्तान (Erbil, Iraqi Kurdistan) – 6,000 वर्ष पुरातन

एरबिल में शहरी जीवन का विकास कम से कम 6000 ईसा पूर्व का हो सकता है और यह दुनिया के सबसे पुराने लगातार बसे हुए शहरों में से एक है. शहर के केंद्र में एरबिल का प्राचीन गढ़ है, जिसे ‘हॉलर कैसल’ के नाम से भी जाना जाता है, जो लगभग 7000 वर्ष पुराना होने का अनुमान है. एरबिल सदियों से फारसियों, यूनानियों, रोमनों, मंगोलों और तुर्क तुर्कों द्वारा बसाया गया शहर है. एरबिल गढ़ एक कृत्रिम टीला और एरबिल शहर का ऐतिहासिक केंद्र है. एरबिल अपने आधुनिक मॉल, प्राचीन स्थलों के लिए जाना जाता है, और यह यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल की सूची में भी शामिल है.

सिडोन, लेबनान (Sidon, Lebanon) – 6,000 वर्ष पुरातन

सिडोन कम से कम पिछले 6,000 वर्षों से बसे हुए सबसे महत्वपूर्ण फोनेशियन शहरों में से एक था. इसका कारण भूमध्य सागर पर एक महत्वपूर्ण बंदरगाह के रूप में इसका स्थान था. 332 ईसा पूर्व में सिकंदर महान द्वारा फेनिसिया की विजय के दौरान सिडोन को तहस-नहस कर दिया गया था और बाकी खंडित फोनेशियन सभ्यता की तरह, अंततः रोम द्वारा अवशोषित कर लिया गया था और अंत में, 7 वीं शताब्दी में अरब मुसलमानों द्वारा इसे फिर से काबिज कर लिया गया था. सिडोन लेबनान का तीसरा सबसे बड़ा शहर है. कांच के उत्पादन ने सिडोन को दुनिया में समृद्ध और प्रसिद्ध बना दिया.

प्लोवदीव, बुल्गारिया (Plovdiv, Bulgaria) – 6,000 वर्ष पुरातन

प्लोवदीव दक्षिणी बुल्गारिया में 7 पहाड़ियों के आसपास बना एक प्राचीन शहर है. इस क्षेत्र के कुछ शुरुआती पुरातात्विक साक्ष्य 11,000 साल पहले के पाए जाते हैं. प्लोवदीव बुल्गारिया का दूसरा सबसे बड़ा शहर है. प्लोवदीव का इतिहास छह शताब्दियों से अधिक समय का है, जो इसे यूरोप के सबसे पुराने शहरों में से एक बनाता है. यह शहर एक महत्वपूर्ण फारसी, थ्रेसियन, मैसेडोनियन और ओटोमन हब था. 

वाराणसी, भारत (Varanasi, India) – 5,000 वर्ष पुरातन

वाराणसी भारत का सबसे पुराना शहर है और सबसे पुराने धर्म – हिंदू धर्म का उगमस्थान भी है. बनारस या काशी के नाम से भी जाना जाने वाला यह शहर उत्तर भारत के उत्तर प्रदेश राज्य में गंगा नदी के तट पर स्थित है और इसका अस्तित्व 11वीं शताब्दी ईसा पूर्व का है. यह शहर हमेशा से ही दुनिया भर से हिंदू तीर्थयात्रियों और पर्यटकों को आकर्षित करता रहा है. शहर की घुमावदार सड़कों के किनारे हिंदू भगवान शिव को समर्पित स्वर्ण मंदिर, काशी विश्वनाथ मंदिर सहित कुछ 2,000 मंदिर हैं.

क्षेत्रफल के अनुसार दुनिया के 10 सबसे बड़े देश (The 10 largest countries in the world by area)

क्षेत्रफल के हिसाब से दुनिया के 10 सबसे छोटे देश (The 10 Smallest Countries In The World By Area)

दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषाएं कौन सी हैं? (What are the most spoken languages in the world)

विश्व इतिहास की प्रसिद्ध और शक्तिशाली महिला शासक (Famous and powerful women rulers of world history)

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *