श्री नरेंद्र मोदी जी के अनमोल विचार और कथन – Shri Narendra Modi Ji Quotes and Thoughts in Hindi

Narendra Modi Quotes and Thoughts in Hindi - नरेंद्र मोदी के अनमोल विचार और कथन

श्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी एक भारतीय राजनेता है जो 2014 से भारत के 14वें और वर्तमान प्रधानमंत्री हैं. वे 2001 से 2014 तक गुजरात के मुख्यमंत्री थे और वाराणसी के सांसद सदस्य हैं. उनका जन्म 17 सितंबर 1950 को वडनगर (गुजरात) में एक गुजराती परिवार में हुआ था. मोदी जी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सदस्य हैं, जो की हिंदू राष्ट्रवादी स्वयंसेवक संगठन है.

Narendra Modi Quotes and Thoughts in Hindi – नरेंद्र मोदी के अनमोल विचार और कथन

1. लोकतंत्र में, जनता की राय हमेशा निर्णायक होती है और हमें इसे विनम्रता से स्वीकार करना होगा.

2. यह महत्वपूर्ण है कि हम अपने देश के युवाओं को किस नजरिये से देखते हैं. उन्हें युवा मतदाताओं के रूप में देखना एक बड़ी गलती है, वे नए जमाने की शक्तियां हैं.

3. भारत 1947 में ही अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हो गया था, लेकिन इसे अभी भी भाई-भतीजावाद, सत्ता-जनित अहंकार, भ्रष्टाचार, बढ़ी हुई कीमतों, पुरानी मानसिकता और अविश्वास के माहौल से आजाद करने की आवश्यकता है. देश गरीबी से जूझ रहा है उसे नई सोच की जरूरत है.

4. हमारा देश अद्भुत युवा शक्ति से भरा है. हम जिस किसी भविष्य की इच्छा रखते हैं, हमें युवाओं को केंद्र में रखना होगा. यदि हम ऐसा कर सकते हैं, तो हम एक लहर की तरह अद्भुत गति से आगे बढ़ सकते हैं.

5. मेरे लिए राजनीति एक महत्वाकांक्षा नहीं है, बल्कि एक मिशन है.

6. पश्चिम में, भारतीयों के प्रति लोगों के मन में एक गलत धारणा बनाई गई है क्योंकि हम पेड़ों की पूजा करते हैं. हम पेड़ों को देवताओं की तरह मानते हैं और फिर भी उन्हें काट देते हैं. इसी तरह, हिंदू देवता किसी जानवर, पक्षी या पेड़ से भी संबंधित हैं. यह हमें उनका सम्मान करना सिखाता है.

7. जब कोई खिलाड़ी कम रन बनाकर आउट हो जाता है, तो लोग इतने दुखी नहीं होते हैं, लेकिन अगर सचिन तेंदुलकर 90 रन पर आउट हो जाते हैं, तो भी उनकी आलोचना की जाती है, क्योंकि लोग उनका मूल्यांकन अलग स्तर पर करते हैं. मुझे खुशी है कि मुझे भी उम्मीदों के पैमाने पर आंका गया है, न कि प्रसिद्धि और अपर्याप्तता के पैमाने पर आंका गया है.

8. राजनीति में कोई पूर्ण विराम नहीं होता है.

9. हम एक व्यक्ति की सनक के अनुसार सरकार नहीं चलाते हैं, हमारी प्रगति सुधारों से प्रेरित है, हमारे सुधार नीतियों द्वारा संचालित हैं और हमारी नीतियां लोगों द्वारा संचालित हैं.

10. मेरे लिए धर्म कार्य के प्रति निष्ठा है और ईमानदारी से काम करना धार्मिक होना है.

10. मैं 07-10-2001 को सीएम नहीं बना. मैं हमेशा से ही सीएम था, आज भी मैं सीएम हूं और हमेशा ही सीएम रहूंगा. मेरे लिए सीएम का मतलब ‘चीफ मिनिस्टर’ होना नहीं है बल्कि ‘कॉमन मैन’ होता है.

11. जो लगातार चलते रहते हैं उन्हें बदले में मीठे फल मिलते हैं. सूर्य की दृढ़ता को देखें – लगातार चलना और आगे बढ़ना, कभी रुकना नहीं है, इसलिए चलते रहें.

सरदार वल्लभ भाई पटेल के अनमोल विचार और कथन – Sardar Vallabhbhai Patel Quotes and Thoughts in Hindi

12. इच्छा + स्थिरता = संकल्प. 
संकल्प + कड़ी मेहनत = सफलता

13. हम में से हर एक के पास अच्छे और बुरे दोनों गुण होते हैं. जो लोग अच्छे गुणों पर ध्यान केंद्रित करने का निर्णय लेते हैं वे जीवन में सफल होते हैं.

14. कड़ी मेहनत से कभी थकान नहीं आती, इससे संतुष्टि ही मिलती है.

15. काम को ही महत्वाकांक्षा बन जाने दीजिए.

16. दीपक की लौ के समान; ऊपर उठना हममें से प्रत्येक की स्वाभाविक प्रवृत्ति है; आइए इस वृत्ति का विकास करें.

17. मेरे जीवन में मिशन ही सब कुछ है. महत्वाकांक्षा कुछ भी नहीं है… यहां तक कि अगर मैं नगर निगम का अध्यक्ष होता, तो भी उतनी ही मेहनत से काम करता जितनी मेहनत मैं सीएम होने के नाते से करता हूं.

18. मेरा संघर्ष ‘फाइल’ में ‘लाइफ’ लाना है.

19. मन कभी समस्या नहीं है; मानसिकता है. 

20. समाज की सेवा करने का अवसर हमें अपने ऋण का भुगतान करने का अवसर देता है.

21. मेरे लिए यह सौभाग्य की बात है कि मुझे काम करने का अवसर मिला है. मैं इसमें अपनी आत्मा समर्पित कर देता हूं. इस तरह का प्रत्येक अवसर अगले दरवाजे को खोल देता है.

22. मैं खेल को सिर्फ शरीर की फिटनेस के तौर पर नहीं देखता. मैं इसे शिक्षा के एक उपकरण के रूप में देखता हूं जो मन को उत्तेजित करता है और अनुशासन को बढ़ावा देता है.

23. सरकार का केवल एक ही धर्म है – सर्वोपरि भारत. सरकार के लिए केवल एक धार्मिक पाठ है – संविधान. सरकार को केवल एक ही भक्ति में संलग्न होना चाहिए – भारत देश के प्रति समर्पण. सरकार की एकमात्र शक्ति है – जन शक्ति. सरकार का केवल एक ही कर्तव्य है – समस्त भारतीयों का कल्याण. “सबका साथ, सबका विश्वास” ही सरकार की एकमात्र आचार संहिता होनी चाहिए.

महात्मा गांधी के अनमोल विचार – Mahatma Gandhi Quotes in Hindi

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *