इस तरह, जान लें कि आपका स्मार्टफोन असली है या नकली – This way, know if your smartphone is real or fake

This way, know if your smartphone is real or fake - इस तरह, जान लें कि आपका स्मार्टफोन असली है या नकली

स्मार्टफोन हमारे रोजमर्रा की जिंदगी का अभिन्न अंग बन गया है, आजकल हर कोई स्मार्टफोन का उपयोग करता है. स्मार्टफोन के माध्यम से, उपयोगकर्ता फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप जैसी सोशल नेटवर्किंग साइटों का उपयोग करके आसानी से एक-दूसरे से जुड़ सकते हैं.

इन दिनों, कई ऑनलाइन शॉपिंग कंपनियां डिस्काउंट ऑफर के साथ स्मार्टफोन बेच रही हैं जिसे खरीदना ग्राहकों द्वारा काफी पसंद किया जाता है. इसमें समय और श्रम की काफी बचत भी होती है. 

लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो स्मार्टफोन को ऑनलाइन खरीदना पसंद नहीं करते हैं क्योंकि उन्हें ऑनलाइन खरीदे जाने वाले स्मार्टफोन पर संदेह होता है. 

स्मार्टफोन के नकली होने के बारे में आपने कई बार सुना होगा. हो सकता है कि आप जिस फोन का इस्तेमाल कर रहे हैं या आप नया फोन लेने जा रहे हैं वह नकली हो. ऐसे में आपको स्मार्टफोन के नकली और असली होने से जुड़ी जरूरी बातें पता होना जरूरी है. हम यहां स्मार्टफोन से जुड़े कुछ ऐसे ही टिप्स दे रहे हैं.

तो, आज हम आपको इस समस्या से छुटकारा पाने का सरल उपाय बताते हैं, ताकि आप असली और नकली स्मार्टफोन की पहचान कर सकें. 

कैसे पता करें कि मोबाइल असली है या नकली, How to Check your Mobile is Real or Fake in Hindi.

#1. रंग और बनावट (Colour and Design):

जब आप एक निश्चित मॉडल खरीदने जा रहे हैं, तो कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट से इसके बारे में कुछ जानकारी इकट्ठा करें. 

विशेष रूप से, कंपनी ने फोन को कितने रंगों और मॉडल में लॉन्च किया है, साथ ही इसे कैसे डिजाइन किया गया है. स्मार्टफोन की तस्वीरें इंटरनेट पर भी आसानी से देखी जा सकती हैं, लेकिन आप इन तस्वीरों को आधिकारिक या विश्वसनीय ई-कॉमर्स साइटों से भी देख सकते हैं.

#2. स्मार्टफ़ोन की दिखावट (Smartphone Look):

अगर नकली स्मार्टफोन का लुक असली जैसा है, तो आप धोखा खा सकते हैं, क्योंकि कोई भी यूजर पहले स्मार्टफोन का लुक और फिर फीचर्स देखता है. ऐसे में आप जब भी स्मार्टफोन देखें तो सबसे पहले उसके बॉडी की फिनिशिंग के साथ-साथ कंपनी का लोगो और डिजाइन की भी जांच करे. 

अगर कंपनी का लोगो सही नहीं है या उसके डिज़ाइन या शेड में कुछ गड़बड़ है, तो वह स्मार्टफोन फेक हो सकता है. आमतौर पर, कई नकली स्मार्टफोन पर, कंपनी का लोगो ऊपर से लगा दिया जाता है. 

इतना ही नहीं फोन को बॉक्स से निकालते समय उसकी पैकिंग और वारंटी पेपर को भी ध्यान से देखें.

#3. स्मार्टफोन का वजन (Weight of smartphone):

स्मार्टफोन बनाने वाली कंपनियां अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर उस मॉडल से संबंधित सभी जानकारी साझा करती हैं. इस जानकारी में उत्पाद का वजन भी शामिल होता है. 

किसी भी स्मार्टफोन के फेक होने का अंदाजा उसके वजन से आसानी से लगाया जा सकता है. मान लीजिए किसी फोन का अनुमानित वजन 250 ग्राम है, लेकिन नकली फोन का वजन इससे कम या ज्यादा हो सकता है. इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि नकली स्मार्टफोन में सस्ते पार्ट्स का इस्तेमाल किया जाता है. 

#4. स्पीड और सुविधाएं (Speed and Features):

सस्ते पार्ट्स के कारण नकली स्मार्टफोन की गति वास्तविक स्मार्टफोन से कम होगी. हालांकि, यह इतनी जल्दी नहीं आंका जा सकता. 

वैसे भी नकली स्मार्टफोन में सॉफ्टवेयर की मदद से इसके हार्डवेयर डिटेल्स को बदल दिया जाता है. वैसे, इन नकली स्मार्टफोन की पहचान फीचर्स के आधार पर की जा सकती है. मूल स्मार्टफोन में उपलब्ध सुविधाएं नकली स्मार्टफोन में नहीं होती हैं. कई बार नकली स्मार्टफोन में कुछ विशेषताएं होती हैं जो मूल स्मार्टफोन में उपलब्ध नहीं होती हैं.

#5. कीमत (Price):

नकली स्मार्टफोन की कीमत ओरिजनल स्मार्टफोन से बहुत कम होती है. इसलिए हो सकता है की नकली स्मार्टफोन विक्रेता आपको विविध ऑफर्स का बहाना बता कर नकली स्मार्टफोन की कम कीमत बता सकते है. 

ऐसी स्थिति में, यह संभव है कि बाजार में आपको ओरिजनल स्मार्टफोन जैसा देखने वाला फोन बहुत कम कीमत पर मिल जाए. 

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि कंपनी अपने स्मार्टफोन को किस कीमत में बेच रही है और इसकी ऑनलाइन कीमत क्या है. इसका मतलब है कि आप कम कीमत के प्रलोभन में नकली स्मार्टफोन को ओरिजनल के रूप में खरीदने की गलती नहीं करते हैं.

#6. गारंटी और वारंटी (Guarantee or Warranty):

जब भी आप नया स्मार्टफोन खरीदें, तो उसकी गारंटी और वारंटी के बारे में ज़रूर जान लें. 

इसके अलावा, फोन के साथ आने वाले वारंटी पेपर्स को अच्छी तरह से जांच लें और उस पर रिटेल शोरूम या शॉप की मुहर जरूर लगवाएं. कंपनियां अक्सर स्मार्टफोन पर 1 साल या उससे अधिक की वारंटी देती हैं. साथ ही, जब कोई नया प्रोडक्ट ख़राब होता है, तो उसमें रिप्लेसमेंट की सुविधा भी होती है, लेकिन दूसरी ओर, आपको नकली फ़ोन में यह सुविधा नहीं मिलती है.

#7. आईएमईआई नंबर (IMEI Number):

फोन को चेक करने का एक आसान तरीका उसका IMEI नंबर होता है. 

आपको ज्ञात होगा कि हर फोन का एक अलग IMEI नंबर होता है जिसका उपयोग फोन के खो जाने या चोरी होने की स्थिति में फोन को ब्लॉक करने के लिए किया जाता है. 

कंपनी स्मार्टफोन के पीछे की तरफ जहां बैटरी फिट होती है, वहां IMEI नंबर की जानकारी प्रदर्शित करती है. इसके अलावा, इसे *#06# कोड से भी चेक किया जा सकता है. 

अगर फोन दो सिम वाला है, तो इसमें दो अलग-अलग IMEI नंबर होंगे.

#8. विक्रेता की श्रेणी (Vendor Rating):

यदि आप फोन ऑनलाइन खरीद रहे हैं, तो विक्रेता की रेटिंग की जांच जरूर करें. अच्छे विक्रेताओं के उत्पादों के फर्जी होने की संभावना कम होती है. 

इसके लिए आप अच्छी रेटिंग वाले ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट का चयन कर सकते हैं जैसे फ्लिपकार्ट, अमेज़न, होमशॉप 18, स्नैपडील, ई-कॉमर्स, आदि. 

कई फोन कंपनियां भी अपने ई-कॉमर्स साइट पर स्मार्टफोन बेचती हैं.

#9. ऐप्स की मदद से (With the help of apps):

फोन नकली है या ओरिजिनल है, इस बात का पता एप्स से भी लगाया जा सकता है.

Google Play Store पर कई ऐसे एंड्रॉइड ऐप है जो आपको स्मार्टफोन के हार्डवेयर से संबंधित जानकारी देते हैं. 

यानी ये ऐप्स स्मार्टफोन के मॉडल, ब्रैंड, स्क्रीन के साथ प्रोसेसर, रैम, ग्राफिक्स के अलावा अन्य हार्डवेयर फीचर्स भी बताते हैं.  इन ऐप्स में CPU-Z, Mi Launcher (MIUI), CPU X शामिल हैं.

#10. कीपैड बटन की असमानता (Keypad button inequality):

जो स्मार्टफोन नकली होते है, उनके कीपैड के बटन भी अलग होते हैं. हालांकि, इनमें कोई बड़ा अंतर नहीं होता है, लेकिन इसे एक असल स्मार्टफोन के साथ उपयोग करके महसूस किया जा सकता है. 

#11. मैसेज (SMS) से पता करें (Know by message):

दूरसंचार विभाग (Department of Telecommunication) द्वारा एक नई सेवा शुरू की गई है. जिससे SMS के जरिए यह पता लगाया जा सकता है कि फोन असली है या नकली.

इसके लिए बस आपको अपने मोबाइल से एक मैसेज भेजना होगा. इसके लिए निम्न नियमों का पालन करें.

सबसे पहले आपको अपने मोबाइल का IMEI नंबर पता होना चाहिए. IMEI नंबर फोन के बॉक्स पर अंकित होता है या फिर मोबाइल में जहां बैटरी फिट होती है, वहां IMEI नंबर की जानकारी प्रदर्शित की जाती है. इसके अलावा, IMEI नंबर खोजने का एक और तरीका है.

फ़ोन का IMEI नंबर कैसे पता करें? How to find the phone’s IMEI number?

– सबसे पहले अपने फोन से *#06# नंबर डायल करें.

– ऐसा करने के बाद, आपको एक पॉपअप विंडो में 15 अंकों का मोबाइल IMEI नंबर मिलेगा. इसे नोट कर लें.

– अब अपने फोन के मैसेज बॉक्स में जाएं और क्रिएट मैसेज ऑप्शन चुनें.

– उसके बाद, मैसेज बॉडी में KYM टाइप करे और फिर एक Space देकर फोन का IMEI नंबर लिखें.

– अब इस मैसेज को 14422 पर भेज दें.

– आपके SMS भेजने के कुछ समय बाद, आपको एक SMS प्राप्त होगा जिसमें निर्माता का विवरण, ब्रांड का नाम, मॉडल नंबर और को सपोर्टेड ब्रांड्स की जानकारी सूचित की जाएगी.

उपरोक्त जानकारी से, आप फोन के विवरण को सत्यापित कर सकते हैं. अगर आपको अपना स्मार्टफोन नकली लगता है, तो आप इसकी सूचना कंपनी के आधिकारिक स्टोर या डीलर को दे सकते हैं.

कंप्यूटर कीबोर्ड शॉर्टकट Keys हिंदी में – Computer Keyboard Shortcut Keys In Hindi

ब्लॉग (Blog) और व्लोग (Vlog) में क्या अंतर है? – What is the difference between Blog and Vlog?

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *