प्रत्येक ग्रह सूर्य से कितनी दूरी पर है? (How far away from the sun is each planet?)

How far away from the sun is each planet?

हमारा सौर मंडल
हमारे सौर मंडल की ग्रह प्रणाली आकाशगंगा के बाहरी कुंडली में स्थित है. हमारे सौर मंडल में तारे, सूर्य और गुरुत्वाकर्षण से बंधी हुई सभी चीजें हैं – बुध, शुक्र, पृथ्वी, मंगल, बृहस्पति, शनि, यूरेनस और नेप्च्यून यह आठ बड़े ग्रहों के साथ प्लूटो यह एक बौना ग्रह भी है. इसमें दर्जनों चंद्रमा और लाखों क्षुद्रग्रह , धूमकेतु और उल्कापिंड भी मौजूद है.

निर्माण
हमारे सौर मंडल का निर्माण लगभग 4.5 अरब साल पहले इंटरस्टेलर गैस और धूल के घने बादलों के माध्यम से हुआ था. संभवतः आसपास के तारे से उत्पन्न  शॉकवेव के कारण धूल के बादल आपस में टकरा गए, जिसे सुपरनोवा कहा जाता है. जब यह धूल के बादल एक दूसरे पर टकराए, तो इसने एक सौर निहारिका (Nebula) का निर्माण हुआ. 

विस्तार और दूरी
हमारा सौर मंडल सूर्य की परिक्रमा करने वाले आठ ग्रहों की तुलना में बहुत दूर तक फैला है. सौर प्रणाली में कुइपर बेल्ट (kuiper belt) भी शामिल है जो नेप्च्यून ग्रह के परिक्रमा पथ के पास से शुरू होता है, कुइपर बेल्ट सौर मंडल के बाहरी क्षेत्र में पाया जाने वाला सर्कमस्टेलर डिस्क है. यह बर्फीले पिंडों का एक विरल रूप से व्याप्त वलय है, जो गैस, धूल, ग्रैनीसिमल्स, क्षुद्रग्रहों से बना होता है. और कुइपर बेल्ट के किनारे से बाहर ऊर्ट क्लाउड (Oort Cloud) है. यह विशाल गोलाकार आवरण है, जो हमारे सौर मंडल को घेरे हुए है. यह प्रत्यक्ष रूप से कभी देखा नहीं गया है, लेकिन इसके अस्तित्व का पूर्व-अनुमान गणितीय मॉडल और वहां से धूमकेतु के संभावित उत्पत्ति के अवलोकन के आधार पर की गई है.

प्रत्येक ग्रह सूर्य से कितनी दूरी पर है?
हमारे सौर प्रणाली में पृथ्वी सहित आठ अन्य ग्रह शामिल है. 2006 में प्लूटो को एक बौने ग्रह के रूप में पुनर्वर्गीकृत किया गया था, इससे पहले सौर प्रणाली में ग्रहों की संख्या नौ थी. सूर्य से प्रत्येक ग्रह की दूरी इसकी मूल संरचना को स्वयंसिद्ध बनाती है.

बुध (Mercury)
बुध ग्रह सूर्य से 3.6 करोड़ मील और पृथ्वी से 4.8 करोड़ मील दूर है. यह सौर मंडल का सबसे छोटा ग्रह है, जिसका व्यास 3,031 मील है. बुध ग्रह की सतह चिकने मैदानों और गहरे गड्ढों द्वारा बनी है, और यह ग्रह ज्यादातर चट्टान और धातु से बना है. 

शुक्र (Venus)
शुक्र ग्रह सूर्य से 6.72 करोड़ मील और पृथ्वी से 2.6 करोड़ मील दूर है. यह सौर मंडल का छठा सबसे बड़ा ग्रह है जिसका व्यास 7,521 मील है. सूर्य और चंद्रमा के अलावा आकाश में सबसे चमकीली वस्तु शुक्र ग्रह है. शुक्र ग्रह की सतह चट्टानों और धूल भरे पहाड़ों, घाटी और मैदानों से बने है.

पृथ्वी (Earth)
पृथ्वी सूर्य से 9.3 करोड़ मील दूर है, और 7,926 मील व्यास के साथ, यह सौर मंडल का पांचवा सबसे बड़ा ग्रह है. जहां तक हम जानते हैं, यह एकमात्र ऐसा ग्रह है जिसपर जीवन है और इसकी सतह का लगभग 70 प्रतिशत हिस्सा पानी से व्याप्त है. पृथ्वी को सूर्य की परिक्रमा करने में 365 दिन लगते है और अपनी धुरी पर घूमने में 24 घंटे लगते है. पृथ्वी की अनुमानित आयु 4.5 अरब वर्ष से भी अधिक है.

मंगल (Mars)
मंगल ग्रह को अक्सर लाल ग्रह के रूप में जाना जाता है, क्योंकि यह लाल रंग की धूल और चट्टानों से ढंका है. मंगल ग्रह सूर्य से 14.16 करोड़ मील दूर है. मंगल ग्रह सौर मंडल का सातवां सबसे बड़ा ग्रह है, जिसका व्यास 4,222 मील है. इसकी सतह  कठोर, सूखी चट्टानों से बनी है और इस ग्रह के दो चंद्रमा हैं.

बृहस्पति (Jupiter)
बृहस्पति सौर मंडल का सबसे बड़ा ग्रह है, सूर्य से इसकी दुरी 48.38 करोड़ मील है. इसका व्यास 88,729 मील है, जिसका अर्थ है कि आप इसके अंदर अन्य सभी ग्रहों को फिट कर सकते हैं और एक दर्जन से अधिक पृथ्वी इसके अंदर समा सकती हैं. बृहस्पति के कम से कम 63 चंद्रमा हैं और यह ज्यादातर हाइड्रोजन और हीलियम वायु से बना है.

शनि (Saturn)
शनि ग्रह, बर्फ के अरबों कणों से बने अपने चक्राकार घेरे के लिए जाना जाता है. शनि ग्रह सूर्य से 88.67 करोड़ मील और पृथ्वी से 55.09 करोड़ मील दूर है. इसका व्यास 74,600 मील है, जो इसे सौर मंडल का दूसरा सबसे बड़ा ग्रह बनाता है. शनि ग्रह तरल द्रव पदार्थ और वायु से बना है, इसलिए यह वास्तव में पानी पर तैरता ग्रह है.

अरुण (Uranus)
यूरेनस पहला ग्रह है जिसे दूरबीन द्वारा खोजा गया था, यह सूर्य से 178.4 करोड़ मील दूर है. यूरेनस का व्यास 32,600 मील है, जो इसे सौर मंडल का तीसरा सबसे बड़ा ग्रह बनाता है. यूरेनस हाइड्रोजन, हीलियम और मीथेन वायु से बना है और इसकी कोई ठोस सतह नहीं है.

नेप्च्यून (Neptune)
हमारे सौर मंडल में सूर्य से सबसे दूर का ग्रह नेप्च्यून है, यह सूर्य से 279.44 करोड़ मील दूर स्थित है. इसका व्यास 30,200 मील है और यह सौर मंडल का चौथा सबसे बड़ा ग्रह है. अरुण ग्रह (Uranus) की तरह, नेप्च्यून भी हाइड्रोजन, हीलियम और मीथेन वायु से बना है.

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *