सप्ताह के अंग्रेजी दिनों को उनके नाम कैसे मिले? जानिए हिंदी में. (How did the English days of the week get their names? Know in Hindi)

How did the English days of the week get their names? Know in Hindi. (सप्ताह के अंग्रेजी दिनों को उनके नाम कैसे मिले? जानिए हिंदी में)

How did the English days of the week get their names? Know in Hindi. (सप्ताह के अंग्रेजी दिनों को उनके नाम कैसे मिले? जानिए हिंदी में)

आज कौन सा दिन है? आपके पास जवाब के लिए सप्ताह के सात अलग-अलग दिनों के नाम है, लेकिन क्या आप जानते है की सप्ताह के दिनों के नाम किसने और कब रखे? 

समय निर्धारण का सबसे सामान्य रूप ग्रेगेरियन कैलेंडर (Gregorian calendar) है. ग्रेगोरियन (Gregorian) कैलेंडर आज दुनिया में सबसे व्यापक रूप से इस्तेमाल किया जाने वाला कैलेंडर है. इस कैलेंडर को सबसे पहले 1582 में पोप ग्रेगोरी (Pope Gregory) द्वारा शुरू किया गया था, जिसे वैश्विक व्यापार को लाभ पहुंचाने के लिए दुनिया भर में व्यापक रूप से अपनाया गया है.

यह कैलेंडर आज इस्तेमाल किए जाने वाले सबसे प्रसिद्ध चालीस कैलेंडर में से एक है. दुनिया के अन्य हिस्सों में, आप बौद्ध कैलेंडर, या कॉप्टिक कैलेंडर, हिंदू, हिब्रू या इस्लामी कैलेंडर पा सकते हैं, जिनमें से सभी विशेष धार्मिक आयोजनों से संबंधित हैं और उनमें समय निर्धारण के विभिन्न तरीकों को देखा जा सकता है.

ग्रेगोरियन कैलेंडर अलग नहीं है. यह मूल रूप से जूलियन कैलेंडर (Julian calendar) पर आधारित है, जो की रोमन कैलेंडर (Roman calendar) पर आधारित था, जो कि, असल में, शास्त्रीय यूनानी हेलेनिक कैलेंडरों (Classical Greek Hellenic calendars) में से एक पर आधारित था, जिसमें कई अलग-अलग कैलेंडर शामिल थे, ग्रेगोरियन कैलेंडर सप्ताह के प्रत्येक दिन के लिए ग्रहों के नाम का उपयोग करता है.

ग्रेगोरियन कैलेंडर एक सौर कैलेंडर (Solar calendar) है जिसमें कुल 12 महीने होते है, और हर एक महीने में 28 से 31 दिन होते हैं. एक नियमित ग्रेगोरियन वर्ष में 365 दिन होते हैं, लेकिन कुछ वर्षों को अधिवर्ष (leap years) के रूप में जाना जाता है, फरवरी में एक अतिरिक्त अधिदिन (leap day) जोड़ा जाता है.

अधिवर्ष (leap years) में, 29 फरवरी को अधिदिन (leap day) के रूप में जोड़ा जाता है, जो की सामान्य वर्ष में मौजूद नहीं होता है. अधिवर्ष (leap years) हर 4 साल में एक बार होता है.

दरअसल, आज हम सप्ताह के दिनों और उनके नामों की उत्पत्ति के बारे में जानकारी प्राप्त करने जा रहे हैं, जो विभिन्न भाषाओं में स्पष्ट रूप से अलग-अलग हैं, लेकिन ‘सूर्य’ (Sun) और ‘चंद्रमा’ (Moon) के अलावा, अंग्रेजी भाषा में उपयोग किए जाने वाले दिनों के नाम कई अन्य देवताओं के नामों पर आधारित है.

देवताओं के यह नाम ईसाई (Christian) भगवान के नामों पर आधारित नहीं है, बल्कि, यूनाइटेड किंगडम या ब्रिटेन (इंग्लैंड) में ईसाई धर्म के आगमन से पहले, जिनकी पूजा की जाती थी, यह उन देवताओं के नाम पर आधारित है. वह मूर्तिपूजक (Pagan God) देवता हुआ करते थे. 

मूर्तिपूजक देवता सिर्फ एक देवता नहीं थे, बल्कि देवी-देवताओं या महिला देवताओं सहित देवताओं का एक पूरा समूह था. और सप्ताह के दिन उनके नाम पर रखे गए थे. ग्रहों के नाम पौराणिक रोमन पौराणिक कथाओं के देवताओं के आधार पर रखे गए थे.

कैलेंडर के महीनों को उनके नाम कैसे मिले, जानिए हिंदी में? How did the calendar months get their names, know in Hindi?

ग्रहों के नामों की उत्पत्ति ग्रीको-रोमन (Greco-Roman) पौराणिक कथाओं के देवताओं पर आधारित है. सप्ताह के अंग्रेजी नाम जिनसे हम सबसे अधिक परिचित हैं, वे इन्हीं मूर्तिपूजक देवताओं से प्राप्त हुए हैं. लेकिन अंग्रेजी में ग्रीको-रोमन शब्दों का नामकरण ‘इंटरप्रिटेटो जर्मनिका’ (Interpretato Germanica) नामक एक प्रक्रिया के कारण भिन्न होता है.

तो चलिए सप्ताह के दिनों पर एक नजर डालते हैं और मैं आपको बताऊंगा कि सप्ताह के अंग्रेजी दिनों को उनके नाम कैसे मिले?

तो, यह सैकड़ों साल पुरानी प्रक्रिया है, इसलिए यह थोड़ा अजीब भी है. 

‘Sunday’ (रविवार) और ‘Monday’ (सोमवार) का अनुवाद स्पष्ट था, लेकिन अन्य मामलों में, शब्दांकन करना अधिक कठिन था. 

तो, ‘Sunday’ (रविवार), ईसाई जगत में सबसे मुख्य धार्मिक और महत्वपूर्ण दिन होता है, लेकिन मूर्तिपूजक समय में ईसाई धर्म से पहले, ‘Sunday’ (रविवार) को स्पष्ट रूप से ‘Sun’ (सूर्य) के आधार पर रखा गया था. यानी सूर्य का दिन.

लैटिन भाषा में ‘Sunday’ (रविवार) का अर्थ, ‘dies Solis’ (डीएस सोलिस) या ‘Sol’ (सोल) होता है, संभवतः यह सबसे स्पष्ट है कि यह सचमुच ‘सूर्य का दिन’ माना जाता है. ‘Sol Invictus’ (सोल इनविक्टस) रोमन सूर्य देवता थे, वही मूर्तिपूजक देवता जिन्हें क्रिसमस पर पूजा जाता है. 

‘सूर्य’ अंतरिक्ष की सबसे चमकीली चीज है. वास्तव में, लगभग सभी ऊर्जा जो हम रोजमर्रा की जिंदगी में उपयोग करते हैं, वह सूर्य से निर्माण हुई है. हर कोई जानता था कि मानव जीवन के लिए सूर्य सबसे महत्वपूर्ण है, इसलिए उन्होंने सूरज के आधार पर सप्ताह के पहले दिन का नाम ‘Sunday’ (रविवार) रखा. सूर्य को समर्पित दिन.

सप्ताह अगला दिन ‘Monday’ (सोमवार) है. लैटिन भाषा में ‘Monday’ (सोमवार) का अर्थ, ‘dies Lunae’ (डीएस लुनाई) या ‘Luna’ (लूना) होता है, और यह निर्धारित करना बहुत मुश्किल नहीं है की यह ‘चंद्रमा का दिन’ है. ‘Luna’ (लूना) एक रोमन देवी हैं और उन्हें ‘Sol’ (सोल – रोमन सूर्य देवता) के महिला साथी के रूप में देखा जाता था. 

क्योंकि सूर्य सबसे महत्वपूर्ण है और आकाश में दिखाई देने वाली दूसरी सबसे बड़ी और चमकीली चीज ‘Moon’ (चंद्रमा) है. तो, ‘Moon’ (चंद्रमा) का दिन, ‘Monday’ (सोमवार) कहलाया. 

तो इस तरह ‘Sunday’ (रविवार) और ‘Monday’ (सोमवार) सप्ताह के पहले दो दिन निर्धारित किए गए थे. और अब, सप्ताह के आगे के दिनों के लिए प्रक्रिया दिलचस्प है.

‘Tuesday’ (मंगलवार) को लैटिन भाषा में, ‘Martis’ (मार्टिस) या ‘Mars’ (मार्स) कहा जाता है, और इसे समझना थोड़ा कठिन है. ‘Tuesday’ (मंगलवार) का नाम प्राचीन अंग्रेजी शब्द Tiwesdaeg या Tiw’s day से लिया गया है. ‘Tiw’ नॉर्स (Norse – मध्ययुगीन उत्तर जर्मनि समूह) के युद्ध देवता थे, लेकिन लैटिन भाषा में युद्ध के देवता का नाम ‘Mars’ है. 

इसलिए, सप्ताह के दिन के साथ-साथ ‘March’ (मार्च) के महीने और हमारे सौर मंडल के लाल ग्रह (मंगल ग्रह) सभी के नामों को रोमन युद्ध देवता के नाम पर रखा गया है.

अब ‘Wednesday’ (बुधवार) की ओर बढ़ते हैं, ‘Wednesday’ (बुधवार) को लैटिन भाषा में, ‘Mercurii’ (मरकुरी) या ‘Mercury’ (मरकरी) कहा जाता है, इस के बारे में भी कुछ रोखठोक नहीं कहा जा सकता है. ‘Wednesday’ (बुधवार) नाम एक प्राचीन अंग्रेजी शब्द Wodnesdaeg या Woden’s Day से लिया गया है. ‘Woden’ (ओडिन), एक नोर्स देवता है और अन्य सभी देवताओं के प्रभारी मुख्य देवता थे. ‘Woden’ (ओडिन) उनके कई अलग-अलग नामों और उच्चारणों में से एक है, हालांकि कुछ पुरातत्वविदों का मानना है कि ‘Woden’ (ओडिन) एक ऐतिहासिक व्यक्ति भी हो सकते है. 

आगे बढ़ते है ‘Thursday’ (गुरुवार) की ओर जिसे ‘Thor’ (थोर) देवता के नाम पर रखा गया है. ‘Thursday’ (गुरुवार) के लिए लैटिन भाषा में, ‘Lovis’ (लविस) या ‘Jupiter’ (बृहस्पति) शब्द है जो की ‘Thor’s Day’ (थोर के दिन) के लिए प्राचीन अंग्रेजी नाम से लिया गया है. ‘Thor’ (थोर) मेघगर्जना या बिजली के विख्यात नोर्स देवता हैं और ‘Jupiter’ (बृहस्पति) आकाश और मेघगर्जना के रोमन देवता हैं. 

लैटिन भाषा में ‘Friday’ (शुक्रवार) को, ‘Veneris’ (वेनेरिस) या ‘Venus’ (शुक्र) कहा जाता है. ‘Venus’ प्राचीन अंग्रेजी शब्द ‘Frigedaeg’ या ‘Frige Day’ से आता है. ‘Frige’ एक नॉर्स देवी है और माना जाता है की वह प्रधान देवता ‘Odin’ की पत्नी है. वह प्रधान देवता की पत्नी होने के नाते, प्रेम का प्रतिनिधित्व करती है, इसकी तुलना में, ‘Venus’ प्रेम की देवी है. 

अंत में, सप्ताह का अंतिम दिन ‘Saturday’ (शनिवार) और लैटिन भाषा में इसे, ‘Saturni’ (शनिचरी) या ‘Saturn’ (शनि) कहा जाता है. ‘Saturn’ (शनि), एक रोमन ‘कृषि’ के देवता थे. यह जानना दिलचस्प है कि कई अन्य रोमन भाषाओं में इस दिन को वास्तव में इसके धार्मिक मूल के नाम पर रखा गया है – लैटिन भाषा में  ‘Sabado’ (सबदो) या हिब्रू में ‘Shabbat’ (शब्बत), जिसे अंग्रेजी में ‘Sabbath day’ (सब्बाथ दिवस – सप्ताह का सातवां दिन) के रूप में जाना जाता है.

मुझे उम्मीद है कि अब आप समझ गए हैं कि सप्ताह के दिनों को इस तरह क्यों नामित किया गया है, और सांस्कृतिक-ऐतिहासिक पृष्ठभूमि के बारे में थोड़ा समझने के लिए भी उन्हें कैसे नामित किया गया है.

झुमरी तलैया कहां है? क्या यह वास्तविक है या काल्पनिक है? – Where is Jhumri Telaiya? Is it real or imaginary?

भारतीय राज्यों के नाम कैसे रखे गए? How were Indian states named?

किसी स्थान का पिन कोड कैसे तय किया जाता है? (How the pin code of a place is decided?)

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *