जंक फूड और फास्ट फूड में क्या अंतर है? What is the difference between junk food and fast food?

Difference Between Junk Food And Fast Food In Hindi - जंक फूड और फास्ट फूड में क्या अंतर है?

Difference Between Junk Food And Fast Food In Hindi – संसार में प्रत्येक जीव को भोजन की आवश्यकता होती है और इंसानो के पास तो भोजन के कई सारे विकल्प मौजूद है. 

भोजन का प्रभाव न केवल शारीरिक ऊर्जा प्राप्त करने पर बल्कि मानसिक गतिविधियों पर भी पड़ता है. यही कारण है कि प्राचीन काल से ही हमारे पारंपरिक भारतीय आहार पर चिकित्सकीय ध्यान दिया जाता रहा है.

भारतीय भोजन में आहार सेवन के कुछ आहार-नियम पाए जाते हैं जैसे पूर्ण भोजन, नाश्ता या अल्पाहार और कुछ खाद्य पदार्थ तो ऐसे भी है जो जिव्हा के चटकारे लेने के लिए तैयार किए जाते हैं, जैसे पापड़, अचार, मुरब्बा आदि.

लेकिन पिछले कुछ दशकों से स्वास्थ्य के प्रति जागरूक भारतीय लोग भी जंक फूड (Junk Food) और फास्ट फूड (Fast Food) को काफी पसंद करने लगे हैं, लेकिन इन खाद्य पदार्थों को लेकर उनके मन में भी कई सवाल हैं.

हालांकि स्वास्थ्य की दृष्टि से junk food और fast food दोनों तरह का खाना सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता है. लेकिन लोग अक्सर इन दोनों में भ्रमित हो जाते हैं कि junk food और fast food दोनों अलग-अलग हैं, या एक ही हैं. (Junk food and fast food are different, or the same)

आज के इस आर्टिकल में हम आपको junk food और fast food के बारे में बताने जा रहे हैं. इस लेख को पढ़कर आप जानेंगे कि फास्ट फूड और जंक फूड क्या है? What is fast food and junk food? और उनके बीच मूलभूत अंतर क्या है?

इसे भी पढ़ें: फलों के बारे में (70) रोचक और मजेदार तथ्य – Interesting and fun facts about Fruits

जंक फूड किसे कहते हैं? – What is Junk food in Hindi

What is Junk food in Hindi

सबसे पहले जान लेते हैं कि जंक फूड क्या होता है? (Junk food meaning)

जंक फूड/Junk food ऐसे खाद्य पदार्थ होते हैं जिनमें वसा, नमक और चीनी का उच्च स्तर होता है और इसमें फाइबर, विटामिन और खनिजों जैसे शरीर के लिए उपयुक्त पोषक तत्वों की कमी होती है.

जंक फूड के बारे में सरल भाषा में कहा जा सकता है कि जो खाना स्वस्थ, अच्छा और उपयोगी नहीं है वह जंक फूड है (Junk = कबाड़). जंक फूड एक ऐसा भोजन है जिसे लोग सेहत के लिए नहीं बल्कि स्वाद के लिए खाना पसंद करते हैं. 

जंक फूड को वैकल्पिक भोजन (Alternative food) के रूप में भी जाना जाता है.

जंक फूड को हिंदी में क्या कहा जाता है? What is junk food called in Hindi?

जंक फूड को आमतौर पर चिप्स, चाट, कैंडी, केक और बिस्कुट जैसे स्नैक्स या अल्पाहार के रूप में दुनिया भर में जाना जाता है.

जंक फूड के प्रकार (Types of junk food):

जंक फूड में वर्गीकृत कुछ खाद्य प्रकार उदाहरण इस प्रकार हैं:

  • चिप्स / वेफर्स जैसे स्नैक्स 
  • कुरकुरे 
  • बिस्कुट / कुकीज़ 
  • आम तौर पर सभी पैकेज्ड फूड
  • समोसा 
  • चाट
  • कटलेट
  • बर्गर
  • पेटिस
  • चाऊमीन
  • फ्रेंच फ्राइज
  • फ्राइड चिकन
  • केक और बिस्कुट
  • चॉकलेट और मिठाई

जंक फूड के नुकसान – Junk food disadvantages in Hindi

  • जंक फूड में सोडियम की मात्रा बहुत अधिक होती है, जिससे सिरदर्द और माइग्रेन जैसी स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं.
  • जंक फूड में कार्ब्स की मात्रा भी अधिक होती है. ऐसे में इसका सेवन करने से आपको मुंहासों की समस्या हो सकती है.
  • अत्यधिक मात्रा में जंक फूड खाने से व्यक्ति तनाव या अवसाद का शिकार हो सकता है.

इसे भी पढ़ें: भोजन के बारे में (50+) रोचक और आश्चर्यजनक तथ्य – Interesting and amazing facts about food

फास्ट फूड किसे कहते हैं? – What is fast food in Hindi

What is Fast food in Hindi

Fast शब्द से ही यह बोध हो जाता है कि जो भोजन (food) जल्दी बन कर उपलब्ध हो जाता है, उसे Fast food / फास्ट फूड कहते हैं.

Fast food meaning – फास्ट फूड वह भोजन है जो अक्सर चौराहों और गलियारों में फूड स्टॉल और ठेलों पर बेचा जाता है. इसमें कचौड़ी, समोंसे, मैगी, चाउमीन, बर्गर आदि खाद्य पदार्थ शामिल हैं जिसे बाहर ले जाकर चलते-फिरते भी खाया जा सकता है और यह पदार्थ सेहत के लिए भी बहुत अच्छे साबित नहीं होते है.

अक्सर आपने McDonald’s, Domino’s, KFC आदि प्रसिद्ध खाद्य प्रदाताओं का नाम सुना होगा और उनके द्वारा बेचे जाने वाले सभी खाद्य पदार्थ फास्ट फूड के अंतर्गत आते हैं.

फास्ट फूड को हिंदी में क्या कहते हैं? What is fast food called in Hindi?

दोस्तों “Fast food” एक अंग्रेजी संज्ञा है जो भोजन के प्रकार को दर्शाती है जैसे हिंदी में नाश्ता या अल्पाहार एक संज्ञा है. मेरे विचार से हिंदी में त्वरित भोजन प्रकार (Quick food type) जैसी कोई परिभाषा नहीं है, लेकिन Fast food के बारे में यह कह सकते है – जल्दी और आसानी से तैयार होने वाला और चलते-फिरते खाने योग्य खाद्य पदार्थ.

फ़ास्ट फूड के प्रकार (Types of fast food)

कुछ भारतीय फास्ट फूड (Indian fast food) उदाहरण इस प्रकार है:

  • भेल पुरी
  • सेव पुरी
  • पानी पुरी
  • आलू टिक्की
  • रगड़ा पेटिस
  • चाट
  • समोसा
  • कचौड़ी
  • वड़ा पाव 

कुछ पाश्चात्य फास्ट फूड (Western fast food) उदाहरण इस प्रकार है:

  • हैमबर्गर
  • चीज़बर्गर
  • सैंडविच
  • मिल्कशेक
  • मफिन
  • बुरिटो
  • बिस्किट / कुकी

फास्ट फूड के नुकसान – Fast food disadvantages in Hindi

  • फास्ट फूड में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक होती है, जो आपके रक्त शर्करा और इंसुलिन प्रतिरोध को बढ़ा सकता है.
  • जंक फूड की तरह फास्ट फूड में भी सोडियम की मात्रा अधिक होती है. सोडियम का बढ़ा हुआ स्तर शरीर में अत्यधिक जल प्रतिधारण का कारण बन सकता है, जिससे सूजन हो सकती है.
  • फास्ट फूड में मौजूद कार्ब्स और शुगर दांतों में किडन और कैविटी का कारण बन सकते हैं.

इसे भी पढ़ें: वोडका, व्हिस्की, ब्रांडी, बीयर, रम, जिन और वाइन में क्या अंतर है? What is the difference between vodka, whiskey, brandy, beer, rum, gin, and wine?

जंक फूड और फास्ट फूड में क्या अंतर है? Junk food and Fast food difference in Hindi

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि दोनों प्रकार के भोजन को स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं माना जाता है, लेकिन लोग अक्सर दोनों में भ्रमित हो जाते हैं कि फास्ट फूड और जंक फूड दोनों अलग हैं, या एक ही हैं.

जंक फूड वह भोजन होता है जो स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं होता है जबकि फास्ट फूड वह भोजन कहलाता है जो खाने के लिए जल्दी उपलब्ध हो जाता है.

इन खाद्य प्रकारों को उनके अंग्रेजी नाम से समझा जा सकता है कि “Junk Food” वह है जो स्वस्थ के लिए अच्छा और उपयोगी नहीं है और “Fast Food” वह है जो कम समय में जल्दी से जल्दी उपलब्ध हो जाता है.

फास्ट फूड शब्द का इस्तेमाल अक्सर होटल और रेस्तरां में अल्प-समय में परोसे जाने वाले भोजन के लिए किया जाता है. फास्ट फूड वह भोजन है जिसकी सामग्री पहले से तैयार की जाती है और मांग होने पर तुरंत गर्म कर बेचा जा सकता है.

चिप्स, कुरकुरे, मैगी, बिस्कुट आदि के पैकेट जंक फूड की श्रेणी में आते हैं और समोसा, पकोड़ा, बर्गर, पिज्जा आदि फास्ट फूड की श्रेणी में आते हैं.

जंक फूड/फास्ट फूड खाने के दुष्परिणाम – Consequences of eating junk food / fast food

अब आप जान गए हैं कि जंक फूड/फास्ट फूड सेहत की दृष्टि से बिल्कुल भी उपयुक्त नहीं है, अब हम जंक फूड/फास्ट फूड के हानिकारक प्रभावों के बारे में थोड़ा विस्तार से जानते हैं (Harmful effects of junk food / fast food). 

अत्यधिक मात्रा में जंक फूड खाने से आपके सामान्य स्वास्थ्य और सेहत पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है और आपके सक्रिय होने की क्षमता कम हो सकती है.

ये खाद्य प्रकार अक्सर कार्यालयों, कंपनियों के बाहर किसी भी स्टाल या ठेले पर आसानी से उपलब्ध होते हैं. इनका अधिक मात्रा में सेवन करने से स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं.

इसे खाने से सिर्फ कोलेस्ट्रॉल और मोटापा बढ़ता है और शारीरिक शक्ति कम होती है, क्योंकि यह भोजन सेहत को कोई पोषण नहीं देता है.

जंक फूड/फास्ट फूड के नियमित सेवन से वजन बढ़ना, मधुमेह और हृदय की समस्याओं सहित छोटी और लंबी अवधि की स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं.

वजन बढ़ने के साथ-साथ जंक फूड/फास्ट फूड खाने से अन्य बीमारियों का असर भी देखा जा सकता है, जो कुछ इस प्रकार हैं –

जंक फूड/फास्ट फूड खाने के अल्पकालिक प्रभाव:

  • तनाव के स्तर में वृद्धि
  • शारीरिक थकान
  • नींद में कठिनाई
  • ऊर्जा के स्तर में कमी
  • एकाग्रता की कठिनाई 
  • उदास महसूस करना
  • दांतों में सड़न

लंबे समय तक जंक फूड/फास्ट फूड खाने से निम्न समस्याएं उत्पन्न हो सकती हैं:

  • टाइप 2 डायबिटीज 
  • हृदय की समस्याएं (जैसे हृदय रोग)
  • ऑस्टियोपोरोसिस
  • मोटापा
  • कैंसर
  • उच्च रक्त चाप
  • उच्च कोलेस्ट्रॉल
  • डिप्रेशन
  • भोजन विकार

जंक फूड और फास्ट फूड के फायदे – Junk Food and Fast Food Benefits

डायटीशियन का साफ कहना है कि ये दोनों ही आहार स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक होते हैं. हालांकि, अगर दोनों में से किसी एक को चुना जाता है, तो फास्ट फूड आपके लिए ज्यादा उपयुक्त रहेगा.

क्योंकि फास्ट फूड में कुछ हद तक ताजी चीजों जैसे हरी सब्जियां, फल, अनाज का मिश्रण होता है, जबकि जंक फूड में ताजी चीजें बिल्कुल नहीं होती हैं.

Junk Food Benefits – जंक फूड के फायदों की बात करें तो यह सेहत के लिए बिल्कुल भी फायदेमंद नहीं होता है. हालांकि, अगर आप कहि यात्रा कर रहे हैं, तो आप इसे भोजन के रूप में शामिल कर सकते हैं. यानी अगर केटरिंग की सुविधा नहीं है तो आप ऐसे खाने को स्टोर कर सकते हैं.

Fast Food Benefits – फास्ट फूड के फायदों की बात करें तो यह भी ताजे फल और सब्जियों जैसे आहार की तुलना में स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद नहीं है. हालांकि, अगर आपके पास घर का बना खाना खाने का विकल्प नहीं है, तो आप इसे एक विकल्प के रूप में शामिल कर सकते हैं.

FAQ

क्या फास्ट फूड हमेशा जंक फूड होता है? Is fast food always junk food?

हां, फास्ट फूड को हमेशा जंक फूड के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, क्योंकि ये खाद्य पदार्थ संतृप्त वसा और नमक में उच्च होते हैं.

क्या जंक फूड की तुलना में स्वस्थ भोजन अधिक महंगा होता है? Is healthy food more expensive than junk food?

स्वस्थ भोजन मनुष्य का पारंपरिक भोजन है और यह महंगा नहीं है और यदि आप जंक फूड की खरीद में कटौती करते हैं तो आप पैसे भी बचा सकते हैं.

संबंधित लेख पढ़ें:

अगर आपको Difference Between Junk Food And Fast Food In Hindi जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.