श्रीमद भगवद गीता के (100+)अनमोल उपदेश | Bhagavad Gita quotes in Hindi

♥ श्रीमद भगवद गीता के 101+ अनमोल उपदेश | Bhagavad Gita quotes in Hindi

Bhagavad Gita Quotes In Hindi & English – श्रीमद् भगवद गीता पवित्र और महान ग्रंथ महाभारत के अनुसार कुरुक्षेत्र में भगवान श्री कृष्ण द्वारा अर्जुन को दिए गए महान उपदेशों का उपनिषद है.

इस में एकेश्वरवाद, कर्म योग, ज्ञान योग, भक्ति योग की बहुत ही सुन्दर ढंग से चर्चा की गई है. अगर हम आपको सरल भाषा में समझाएं तो श्रीमद्भगवद्गीता में जीवन जीने की अनूठी कला और पवित्र शक्ति के बारे में बताया गया है.

आज हम आपके साथ श्रीमद भगवद गीता के 101+ अनमोल उपदेश Bhagavad Gita quotes in Hindi & English साझा कर रहे हैं.

# 1. Bhagavad Gita Quotes On Knowledge & Faith 

“जिस व्यक्ति के पास ज्ञान की कमी है और ईश्वर में विश्वास नहीं है, वह मनुष्य जीवन में कभी भी सुख और सफलता प्राप्त नहीं कर सकता है.”

“The man who lacks knowledge and does not have faith in God, that man can never achieve happiness and success in life.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 2. Bhagavad Gita Quotes On Silence

“मनुष्य जो कुछ भी हृदय से दान कर सकता है, वह अपने हाथों से नहीं कर सकता, और जो वह मौन में कह सकता है, वह शब्दों से नहीं कह सकता.”

“What a man can donate with his heart, he cannot do with his hands, and what he can say in silence, he cannot say with words.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 3. Bhagavad Gita Quotes On Gratitude

“भगवान ने हमें जो कुछ भी दिया है वह हमारे लिए काफी है और यही एक अपरिवर्तनीय सत्य भी है.”

“Whatever God has given us is enough for us and this is also the one unchanging truth.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 4. Bhagavad Gita Quotes On Moral Reality

“हम इस दुनिया में खाली हाथ आए हैं और खाली हाथ जाएंगे, जो आज हमारा है वह कल किसी और का होगा, इसलिए हम अपने जीवन में जो कुछ भी करते हैं, उसे पूरी भक्ति के साथ अपने इष्टदेव को अर्पित करना चाहिए.”

“We came into this world empty-handed and will go empty-handed, what is ours today will belong to someone else tomorrow, so whatever we do in our life, we should offer it to our presiding deity with full devotion.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 5. Bhagavad Gita Quotes On Law Of The Material World

“इस भौतिक संसार का एक ही अपरिवर्तनीय नियम है कि जो कुछ भी जन्म लेता है वह कुछ समय के लिए ही रहता है, उसके बाद उसका अंत होना निश्चित है, चाहे वह मानव शरीर हो या फल.”

“There is only one unchanging law of this material world that whatever takes birth remains only for some time, after that it is sure to come to an end, whether it is a human body or a fruit.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 6. Bhagavad Gita Quotes On Life Rule

“मनुष्य को जीवन में अपनी इच्छाओं के अनुसार जीने के लिए जुनून की आवश्यकता होती है, अन्यथा हर इंसान की परिस्थितियां तो हमेशा विपरीत ही होती हैं.”

“Humans need passion to live according to their desires in life, otherwise the circumstances of every human being are always opposite.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 7. Bhagavad Gita Quotes On Success

“जीवन की सफलता हर उम्र के छोटे-छोटे प्रयासों का योग है, जो मनुष्य हर दिन करता है.”

“Success of life is the sum of small efforts every age, which man makes every day.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 8. Bhagavad Gita Quotes On Worry & Fear

“हमारी बेवजह की चिंता और मन का डर एक ऐसा रोग है, जिससे हमारी आत्मशक्ति चकनाचूर हो जाती है.”

“Our unnecessary worry and fear of the mind is such a disease, by which our soul power is shattered.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 9. Bhagavad Gita Quotes On Negative Thoughts

“हर इंसान के जीवन में नकारात्मक विचारों का आना निश्चित है, लेकिन यह व्यक्ति पर निर्भर करता है कि वह उन विचारों को कितना महत्व देता है.”

“Negative thoughts are sure to come in the life of every human being, but it depends on the man how much importance he gives to those thoughts.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 10. Bhagavad Gita Quotes On Abilities

“मनुष्य के जीवन में बुरा समय एक दर्पण की तरह होता है, जो हमें हमारी क्षमताओं का सही अंदाजा देता है.”

“The bad times in the life of a human being are like a mirror, which gives us the true idea of our abilities.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 11. Bhagavad Gita Quotes On Morality

“जो बीत गया उस पर शोक क्यों करें, जो हमारे पास है उस पर अहंकार क्यों करें, और जो आने वाला है उस पर क्यों आसक्त हों.”

“Why grieve over what has passed, why be arrogant over what we have, and why be enamored of what is about to come.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 12. Bhagavad Gita Quotes On God Existence

“मैं इस पृथ्वी की हर सुगंध की मिठास में हूं, मैं अग्नि की लौ हूं, और मैं सभी जीवों का जीवन और संन्यासियों का संयम हूं.”

“I am in the sweetness of every fragrance of this earth, I am the flame of fire, and I am the life of all living beings and the self-restraint of the Sannyasis.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 13. Bhagavad Gita Quotes On Mind

“जो व्यक्ति अपने मन को नियंत्रित करने में असमर्थ है, उसका मन उसके लिए शत्रु की तरह कार्य करता है.”

“The man who is unable to control his mind, his mind acts like an enemy to him.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 14. Bhagavad Gita Quotes On Personality

“मनुष्य के चरित्र का निर्माता उसका स्वयं का आत्मविश्वास है, जैसा उसका आत्मविश्वास होगा, वैसा ही उसका व्यक्तित्व भी होगा.”

“The builder of a man’s character is his own self-confidence, as will his self-confidence, so will his personality.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 15. Bhagavad Gita Quotes On Faith 

“हर कोई जो अपने देवता को पूर्ण विश्वास के साथ पूजना चाहता है, मैं उस व्यक्ति के उस देवता में विश्वास को दृढ़ करता हूं.”

“Every man who desires to worship his deity with full faith, I make that man’s faith firm in that deity.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 16. Bhagavad Gita Quotes On Power of God

“ईश्वर की शक्ति हमेशा मनुष्य के पास उसकी इंद्रियों, भावनाओं और मन की गतिविधियों के माध्यम से होती है.”

“The power of God is always with man through his senses, feelings, and activities of the mind.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 17. Bhagavad Gita Quotes On Doubts

“जो व्यक्ति हमेशा दूसरों पर संदेह करता है, उसे किसी भी दुनिया में सुख और सफलता नहीं मिलती है.”

“The person who always doubts others, that person does not get happiness and success in any world.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 18. Bhagavad Gita Quotes On Wise Man

“बुद्धिमान व्यक्ति हमेशा अपने किए हुए कर्मों और अपने ज्ञान को एक ही रूप से देखता है.”

“The wise man always looks at the deeds he has done and his knowledge in the same way.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 19. Bhagavad Gita Quotes On Intelligence

“बुद्धिहीन व्यक्ति के लिए स्वर्ण और गंदगी में कोई अंतर नहीं होता है.”

“There is no difference between gold and filth for a man without intelligence.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 20. Bhagavad Gita Quotes On Deeds 

“मैं अपने कार्यों से बाध्य नहीं हूं क्योंकि मुझे अपने किए गए कर्मों के फल की कोई इच्छा नहीं है.”

“I am not bound by my actions because I have no desire for the reward of the deeds I have done.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 21. Bhagavad Gita Quotes On Prayer 

“भगवान से प्रार्थना करने से किसी व्यक्ति की स्थिति या भाग्य बदले या ना बदले, लेकिन वह प्रार्थना निश्चित रूप से व्यक्ति के चरित्र को बदल देती है.”

“Whether or not a person’s condition or destiny changes by prayer to God, but that prayer definitely changes the character of a person.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 22. Bhagavad Gita Quotes On Change 

“हमें अपने लिए सोचना चाहिए कि खुद में बदलाव लाना कितना मुश्किल है, फिर हम क्यों सोचते हैं कि दूसरों में बदलाव लाना आसान है.”

“We should think for ourselves that how difficult it is to bring change in ourselves, then why do we think it is easy to bring change in others.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 23. Bhagavad Gita Quotes On Thoughts

“किसी भी कार्य को सफलतापूर्वक करने के लिए प्रेरणा का एक मात्र स्रोत हमारे विचार हैं, इसलिए हमें हमेशा बड़ा सोचना चाहिए और जीत हासिल करने के लिए खुद को प्रेरित करना चाहिए.”

“The only source of inspiration to do any work successfully is our thoughts, so we should always think big and motivate ourselves to achieve victory.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 24. Bhagavad Gita Quotes On Shri Krishna

“श्री कृष्ण में इतनी आस्था और उनकी इतनी भक्ति हो कि जीवन में जब भी संकट आए तो श्री कृष्ण स्वयं चिंता करें.”

“Have so much faith in Shri Krishna and so much devotion to him that whenever we face trouble in life, Shri Krishna himself should worry.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 25. Bhagavad Gita Quotes On Bad Mentality

“अगर बुरी मानसिकता वाले लोग सिर्फ समझाने से सब कुछ समझ जाते, तो श्री कृष्ण कभी महाभारत नहीं होने देते.”

“If people with bad mentality could understand everything just by explaining, then Shri Krishna would never have allowed Mahabharata to happen.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 26. Bhagavad Gita Quotes On Karma

“जिस प्रकार दीपक में तेल समाप्त होने पर दीया बुझ जाता है, उसी प्रकार जब किसी व्यक्ति के कर्म क्षीण होने लगते हैं, तो उस व्यक्ति का भाग्य भी नष्ट हो जाता है.”

“Just as the lamp gets extinguished when the oil in the lamp is exhausted, in the same way, when the actions of a person start to deteriorate, then the fate of that person also perishes.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 27. Bhagavad Gita Quotes On Hopes Of Man

“इस पृथ्वी पर कोई नहीं है जो मनुष्य की आशाओं को पूरा कर सके, क्योंकि मनुष्य की आशा एक समुद्र की तरह है जो कभी नहीं भर सकती.”

“There is no one on this earth who can fulfill the hopes of man because the hope of man is like an ocean that can never be filled.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 28. Bhagavad Gita Quotes On Human Selfishness

“मानव स्वार्थ बहुत शक्तिशाली होता है और इसीलिए कभी-कभी हमारे दुश्मन हमारे दोस्त बन जाते हैं और हमारे दोस्त हमारे दुश्मन बन जाते हैं.”

“Human selfishness is very powerful and that is why sometimes our enemies become our friends and our friends become our enemies.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 29. Bhagavad Gita Quotes On Satpurush

“सतपुरुष हमेशा दूसरों के किए गए अच्छे कामों और उनके नेक कामों को याद करते हैं, न कि दूसरों के बुरे कामों को.”

“Satpurush always remembers the good deeds done by others and their noble deeds and not the bad deeds done by others.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 30. Bhagavad Gita Quotes On Never Being Discouraged

“जीवन में कभी भी निराश न होना ही सफलता की कुंजी है, मनुष्य का उत्साह ही उसे कर्म करने के लिए प्रेरित करता है और उसका उत्साह उस कार्य को सफल बनाता है.”

“Never being discouraged in life is the key to success, it is the enthusiasm of man that motivates him to do the deeds and his enthusiasm makes that work successful.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 31. Bhagavad Gita Quotes On Success & Failure

“जब एक आदमी सफल होता है, तो उसकी सफलता उसे इस दुनिया से परिचित कराती है, और जब एक आदमी असफल होता है, तो उसकी असफलता उसे दुनिया से परिचित कराती है.”

“When a man is successful, his success introduces him to this world, and when a man fails, his failure introduces him to the world.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 32. Bhagavad Gita Quotes On Enthusiasm & Contentment

“यदि हमारे मन में उत्साह और संतोष है, तो विश्वास कीजिए कि यह आपके लिए स्वर्ग प्राप्ति से बढ़कर होगा, मनुष्य के मन की तृप्ति ही उसके सुख का सबसे बड़ा साथी है.”

“If we have enthusiasm and contentment in our mind, then believe that it will be more than the attainment of heaven for you, the contentment of the mind of man is his greatest companion of happiness.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 33. Bhagavad Gita Quotes On Happiness & Success

“जो कोई दयालुता से प्रेरित होकर किसी की सेवा करता है, उसे निश्चित रूप से सुख और सफलता प्राप्त होती है.”

“Whoever does service to someone inspired by kindness, that person definitely gets happiness and success.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 34. Bhagavad Gita Quotes On Good Deeds

“प्रकृति का नियम है कि जो भी दूसरों की भलाई के लिए अच्छे कर्म करता है, वह सभी अच्छे कर्म उस व्यक्ति के पास अवश्य ही वापस आते हैं.”

“It is the law of nature that whoever does good deeds for the good of others, all those good deeds definitely come back to that person.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 35. Bhagavad Gita Quotes On Serenity & Peace

“सुकून और शांति इस दुनिया की सबसे महंगी चीज है, जो हमें केवल भगवान की भक्ति से ही मिल सकती है.”

“Serenity and peace are the most expensive things in this world, which we can get only by devotion to God.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 36. Bhagavad Gita Quotes On Ego 

“हमारे मन का अहंकार उस वृक्ष के समान होता है जिस पर केवल विनाश के फल ही लगते हैं.”

“The ego of our mind is like a tree that bears only the fruits of destruction.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 37. Bhagavad Gita Quotes On Trust 

“दूसरों पर भरोसा करना अच्छा है, लेकिन कभी-कभी हमें भरोसा करने में सावधानी बरतनी चाहिए क्योंकि कभी-कभी आपके अपने दांत ही आपकी जिव्हा को काट लेते हैं.”

“It is good to trust others, but sometimes we should be careful in trusting because sometimes your own teeth bite your tongue.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 38. Bhagavad Gita Quotes On Boast 

“मनुष्य को यह घमंड नहीं करना चाहिए कि उसे जीवन में किसी की आवश्यकता नहीं होगी, और न ही कोई गलतफहमी होनी चाहिए कि सभी को उसकी आवश्यकता होगी.”

“Man should not boast that he will not need anyone in life, nor should there be any misunderstanding that everyone will need him.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 39. Bhagavad Gita Quotes On God Rememberence

“इस कथन में कोई संदेह नहीं है कि जो कोई मृत्यु के समय मुझे याद करता है, और मुझे याद करते हुए अपना शरीर छोड़ देता है, वह मनुष्य मेरे धाम में वास करता है.”

“There is no doubt in this statement that whoever remembers Me at the time of death, and leaves his body remembering Me, that man resides in My abode.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 40. Bhagavad Gita Quotes On Karma

“मनुष्य अपने जीवन में जो कुछ भी कर्म के रूप में बोता है, उसका फल उसे भविष्य में मिलता है.”

“Whatsoever a man sows in his life in the form of karma, he gets the fruit of the same in future.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 41. Bhagavad Gita Quotes On Faith

“प्रत्येक मनुष्य को अपने ईश्वर में अटूट विश्वास रखना चाहिए, क्योंकि अर्जुन ने भी युद्ध के मैदान में जाने से पहले श्री कृष्ण को ही चुना था.”

“Every man should have unwavering faith in his God, because Arjuna also chose Shri Krishna before going to the battlefield.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 42. Bhagavad Gita Quotes On Fear

“मनुष्य अपने जीवन में जब तक डरता रहेगा, तब तक उस मनुष्य के जीवन के हर फैसले दूसरे करते रहेंगे.”

“As long as a man is afraid in his life, others will continue to make every decision of that man’s life.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 43. Bhagavad Gita Quotes On God

“मैं इस संसार के प्रत्येक प्राणी को एक समान दृष्टि से देखता हूं, मैं किसी को कम या ज्यादा पसंद नहीं करता हूं, लेकिन जो कोई मुझे श्रद्धा और प्रेम से पूजता है, मैं उनके भीतर और उनके जीवन में निवास करता हूं, मैं उन्हें कभी न कभी दर्शन जरूर देता हूं.

“I look upon every creature in this world with the same attitude, I do not like anyone more or less, but whosoever worships me with reverence and love, I reside within them and their lives, I definitely give them darshan at some point.

– From Bhagavad Gita

*****

# 44. Bhagavad Gita Quotes On Happening 

“हमारे साथ जो हुआ वह अच्छा ही हुआ, विश्वास करो कि हमारे साथ जो हो रहा है, वह अच्छे के लिए ही हो रहा है, और जो हमारे साथ होने वाला है वह भी अच्छा ही होगा.”

“Whatever happened to us is good, believe what is happening to us, it is happening for good, and whatever is going to happen to us will be good.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 45. Bhagavad Gita Quotes On Karma

“बिना कर्म किये जीवन में किसी फल की आशा करना मनुष्य की सबसे बड़ी भूल है.”

“Hoping for any fruit in life without doing any action is the biggest mistake of a human being.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 46. Bhagavad Gita Quotes On Failur

“असफलता के ताले खोलने के लिए इस दुनिया में केवल दो चाबियां हैं, पहली कुंजी है दृढ़ संकल्प और दूसरी कड़ी मेहनत.”

“There are only two keys in this world to open the locks of failure, the first key is determination and the second hard work.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 47. Bhagavad Gita Quotes On Changes In Life

“जिस प्रकार समय-समय पर प्रकृति में परिवर्तन होता रहता है, उसी प्रकार मनुष्य के जीवन में सुख-दुःख, आशा, निराशा, सफलता और असफलता का आगमन होता रहता है.”

“Just as there is a change in nature from time to time, in the same way, happiness and sorrow, hope, disappointment, success, and failure keep on coming in the life of man.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 48. Bhagavad Gita Quotes On Deeds

“कोई भी मनुष्य जन्म से महान नहीं होता, महान बनने के लिए भी महान कर्म करने पड़ते हैं.”

“No man is great by birth, to become great man also has to do great deeds.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 49. Bhagavad Gita Quotes On Mind

“केवल मन ही किसी का मित्र और शत्रु होता है.”

“Only the mind is one’s friend and enemy.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 50. Bhagavad Gita Quotes On Hell

“नरक के तीन द्वार हैं- काम, क्रोध और लोभ.”

“Hell has three gates – lust, anger, and greed.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 51. Bhagavad Gita Quotes On Peace

“वह जो सभी कामनाओं का त्याग कर ‘मैं’ और ‘मेरा’ की लालसा और भावना से मुक्त हो जाता है, वह शांति पाता है.”

“He who renounces all desires and become free from the longing and feeling of ‘I’ and ‘mine’, finds peace.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 52. Bhagavad Gita Quotes On Wisdom

“जो शोक के योग्य नहीं, उसके लिये तुम शोक करते हो, तौभी बुद्धि की बातें करते हो, ज्ञानी न तो जीवितों के लिये शोक करते हैं और न मरे हुओं के लिये.”

“You grieve for that which is not worthy of mourning, and yet speak of wisdom, wise men neither mourn for the living nor the dead.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 53. Bhagavad Gita Quotes On Work 

“जब आप अपने काम में आनंद खोज लेते हैं तब आप पूर्णता प्राप्त कर लेते हैं.”

“When you find joy in your work then you attain perfection.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 54. Bhagavad Gita Quotes On Moral Teaching

“मेरा-तुम्हारा, छोटा-बड़ा, तुम्हारा-पराया, मन से मिटा दो, फिर सब तुम्हारा है, तुम सबके हो.”

“My-yours, small-big, your-alien, erase it from the mind, then everything is yours, you belong to everyone.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 55. Bhagavad Gita Quotes On Happiness 

“इतिहास कहता है कि कल सुख था, विज्ञान कहता है कि कल सुख होगा, लेकिन धर्म कहता है कि मन सच्चा हो और हृदय अच्छा हो, तो हर दिन सुख होगा.”

“History says that there was happiness yesterday, science says that there will be happiness tomorrow, but religion says that if the mind is sincere and the heart is good, there will be happiness every day.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 56. Bhagavad Gita Quotes On Present Moment

“जीवन न तो भविष्य में है और न ही अतीत में, जीवन तो केवल इस क्षण में है, अर्थात इस क्षण का अनुभव ही जीवन है.”

“Life is neither in the future nor in the past, life is only in this moment, that is, the experience of this moment is life.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 57. Bhagavad Gita Quotes On Change

“आज जो तुम्हारा है, पहले किसी और का था और भविष्य में किसी और का होगा, परिवर्तन ही संसार का नियम है.”

“Whatever is yours today, previously belonged to someone else and will be someone else’s in future, change is the law of the world.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 58. Bhagavad Gita Quotes On Mind

“जो लोग मन को नियंत्रित नहीं करते हैं, उनके लिए यह एक दुश्मन की तरह काम करता है.”

“For those who do not control the mind, it acts like an enemy.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 59. Bhagavad Gita Quotes On Faith

“एक व्यक्ति जो कुछ भी चाहता है वह बन सकता है यदि वह विश्वास के साथ उस चीज पर चिंतन करता है जो वह चाहता है.”

“A person can become whatever he wants if he contemplates with faith the thing he wants.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 60. Bhagavad Gita Quotes On Faith

“मनुष्य अपने विश्वास से निर्मित होता है. जैसा वह विश्वास करता है वैसा वह बन जाता है.”

“Man is made by his faith. As he believes, so he becomes.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 61. Bhagavad Gita Quotes On Work

“अपने अनिवार्य काम करो, क्योंकि काम करना वास्तव में निष्क्रियता से बेहतर है.”

“Do your essential works, because working is actually better than inaction.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 62. Bhagavad Gita Quotes On Work

“फल की इच्छा छोड़कर कर्म करने वाला व्यक्ति अपने जीवन को सफल बनाता है.”

“The man who does the work leaving the desire for the fruit makes his life successful.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 63. Bhagavad Gita Quotes On Nature

“सज्जन अच्छे आचरण वाले सज्जनों के बीच रहना चाहते हैं, नीच लोग केवल नीच लोगों में रहना चाहते हैं. जिसके स्वभाव से जो प्रवृत्ति उत्पन्न हुई है वह उस प्रवृत्ति को नहीं छोड़ती.”

“Gentlemen want to live among gentlemen of good conduct, lowly men only want to live in lowly people. The tendency that has arisen out of whose nature does not leave that tendency.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 64. Bhagavad Gita Quotes On Divine Wealth

“दिव्य धन वाले व्यक्ति में भय का पूर्ण अभाव और सभी के लिए प्रेम की भावना होती है.”

“A man with divine wealth has a complete absence of fear and a feeling of love for all.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 65. Bhagavad Gita Quotes On Happening

“जो होने वाला है, वह होकर ही रहता है और जो नहीं होने वाला है वह कभी नहीं होता, जिसकी बुद्धि में ऐसा संकल्प होता है, वह कभी चिंता नहीं करता.”

“What is going to happen, it happens and what is not going to happen never happens, those whose intellects have such a determination, they never worry.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 66. Bhagavad Gita Quotes On Life

“किसी और के जीवन की नकल करके पूरी तरह से जीने की तुलना में स्वयं को जानकर अपूर्ण रूप से जीना कहीं अधिक बेहतर है.”

“It is far better to live imperfectly by knowing one’s self than to live to the fullest by imitating someone else’s life.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 67. Bhagavad Gita Quotes On Time & Luck

“समय से पहले और भाग्य से अधिक किसी को कुछ प्राप्त नहीं होता.”

“Nobody gets anything ahead of time and more than luck.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 68. Bhagavad Gita Quotes On People’s Saying

“अच्छे काम करने के बावजूद लोग आपके बुरे कामों को ही याद रखेंगे. इसलिए लोग जो कहते हैं उस पर ध्यान न दें। अपना काम करते रहें.”

“Despite doing good deeds, people will only remember your bad deeds. So don’t pay attention to what people say. Keep doing your work.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 69. Bhagavad Gita Quotes On Wicked People

“जो लोग बुरे कर्म करते हैं, सबसे नीच लोग जो आसुरी प्रवृत्ति के हैं, और जिनकी बुद्धि माया द्वारा भस्म हो गई है, वे मेरी पूजा नहीं करते हैं या मुझे प्राप्त करने का प्रयास नहीं करते हैं.”

“The people who do evil deeds, the lowest of people who are attached to demonic tendencies, and whose intelligence has been consumed by Maya, do not worship Me or try to attain Me.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 70. Bhagavad Gita Quotes On God Existence

“ऐसा कुछ भी नहीं है, चेतन या अचेतन, जो मेरे बिना अस्तित्व में हो सकता है.”

“There is nothing, conscious or unconscious, that can exist without me.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 71. Bhagavad Gita Quotes On God Existence

“जो लोग इस ज्ञान में विश्वास नहीं करते हैं वे मुझे प्राप्त किए बिना जन्म और मृत्यु के चक्र का पालन करते हैं.”

“Those who do not believe in this knowledge follow the cycle of birth and death without attaining Me.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 72. Bhagavad Gita Quotes On Mind

“जिसने मन को जीत लिया है उसने पहले ही परमात्मा को प्राप्त कर लिया है क्योंकि उसने शांति प्राप्त कर ली है। ऐसे व्यक्ति के लिए सुख और दुख, ठंड और गर्मी, और मान और अपमान एक समान ही हैं.”

“He who has conquered the mind has already attained the Supreme Soul because he has attained peace. For such a man, happiness and sorrow, cold and heat, and honor and dishonor are one and the same.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 73. Bhagavad Gita Quotes On Charity 

“किसी जरूरतमंद व्यक्ति को बिना किसी हिचकिचाहट के जो दान कर्तव्य के रूप में दिया जाता है, वह सात्त्विक माना जाता है.”

“The charity which is given as a duty, without any hesitation, to a needy person, is considered to be sattvik.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 74. Bhagavad Gita Quotes On Penances

“पवित्रता, सरलता, ब्रह्मचर्य और अहिंसा भगवान, ब्राह्मण, गुरु, माता-पिता जैसे गुरुओं की पूजा करने के लिए शारीरिक तपस्या हैं.”

“Purity, simplicity, celibacy, and non-violence are physical penances to worship gurus like God, brahmins, gurus, parents.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 75. Bhagavad Gita Quotes On God Existence

“जो हर जगह ‘मुझे’ देखता है और मुझमें सब कुछ देखता है, उसके लिए मैं कभी अदृश्य नहीं हूं, न ही वह मेरे लिए अदृश्य है.”

“I am never invisible to him who sees ‘Me’ everywhere and sees everything in me, nor is he invisible to me.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 76. Bhagavad Gita Quotes On Success & Happiness

“अपने आप को जीवन के योग्य बनाना ही सफलता और खुशी का एकमात्र तरीका है.”

“To make oneself worthy of life is the only way to success and happiness.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 77. Bhagavad Gita Quotes On Soul

“जिस प्रकार मनुष्य पुराने वस्त्रों को त्यागकर नये वस्त्र धारण करता है, उसी प्रकार आत्मा पुराने तथा अनुपयोगी शरीरों को त्याग कर नये शरीर को धारण करती है.”

“Just as a man discards old clothes and puts on new clothes, in the same way, the soul renounces old and useless bodies and takes on a new physical body.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 78. Bhagavad Gita Quotes On Karma

“जो कर्म में अकर्म देखता है और अकर्म में कर्म देखता है, वह सब मनुष्यों में ज्ञानी है और सब प्रकार के कर्मों में लीन होकर दिव्य अवस्था में रहता है.”

“He who sees inaction in action and action in inaction, he is the wisest of all men and, being engaged in all kinds of actions, remains in a transcendental state.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 79. Bhagavad Gita Quotes On Initiation

“गुरु की दीक्षा के बिना, प्राणी के सभी कार्य निष्फल हैं.”

“Without the initiation of the Guru, all the actions of a living being are fruitless.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 80. Bhagavad Gita Quotes On Karma

“प्रत्येक व्यक्ति अपने कर्म के गुणों का पालन करके पूर्ण बन सकता है.”

“Each person can become perfect by following the qualities of his own karma.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 81. Bhagavad Gita Quotes On Deeds

“यज्ञ, दान और तपस्या के कर्मों को कभी नहीं छोड़ना चाहिए, उन्हें हमेशा संपन्न किया जाना चाहिए.”

“The deeds of sacrifice, charity, and penance should never be abandoned, they should always be performed.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 82. Bhagavad Gita Quotes On Monk

“जो मनुष्य न तो कर्म के फल की इच्छा करता है और न ही कर्म के फल से घृणा करता है, वह संन्यासी कहलाता है.”

“A man who neither desires the fruit of action nor hates the fruit of action is known as a Monk.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 83. Bhagavad Gita Quotes On Yogi

“जो व्यक्ति अपने कर्मों के परिणाम के प्रति आश्वस्त है और जो अपने कर्तव्य का पालन करता है, वही सच्चा योगी है.”

“The man who is sure of the result of his actions and who performs his duty, that is the real yogi.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 84. Bhagavad Gita Quotes On Incarnation

“जब भी और जहां भी अधर्म बढ़ेगा, मैं धर्म की स्थापना के लिए अवतार लेता रहूंगा.”

“Whenever and wherever unrighteousness increases, I will continue to incarnate for the establishment of religion.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 85. Bhagavad Gita Quotes On Dharma

“मैं हर युग में भक्तों को बचाने, दुष्टों को नष्ट करने और धर्म को फिर से स्थापित करने के लिए प्रकट होता हूं.”

“I appear in every age to save the devotees, to destroy the wicked, and to re-establish Dharma.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 86. Bhagavad Gita Quotes On Worship

“जो लोग निरंतर भक्ति के साथ मेरी पूजा करते हैं, मैं उनकी जरूरतों को पूरा करता हूं और उनके पास जो कुछ भी है उसकी रक्षा करता हूं.”

“Those who worship Me with constant devotion, I fulfill their needs and protect what they have.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 87. Bhagavad Gita Quotes On Dignity 

“कमजोरी ईश्वर द्वारा दी जाती है, लेकिन मर्यादा मनुष्य के अपने दिमाग से बनाई जाती है.”

“Weakness is certainly given by God, but dignity is created by man’s own mind.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 88. Bhagavad Gita Quotes On Fear

“भय होने से भविष्य के दुखों को नहीं रोका जा सकता है. भय केवल आने वाले दुख की कल्पना करना है.”

“Having fear does not prevent future misery. Fear is only imagining the suffering to come.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 89. Bhagavad Gita Quotes On Anger

“क्रोध से भ्रम उत्पन्न होता है, भ्रम से बुद्धि व्यग्र हो जाती है, जब बुद्धि व्यग्र हो जाती है, तब तर्क नष्ट हो जाता है, जब तर्क नष्ट होता है तब व्यक्ति का पतन हो जाता है.”

“From anger begets delusion, from delusion the intellect bewildered, when the intellect is disturbed, reason perishes, when reason perishes, one falls.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 90. Bhagavad Gita Quotes On Death-rebirth

“जिसने जन्म लिया है उसकी मृत्यु निश्चित है और मृत्यु के बाद पुनर्जन्म निश्चित है.”

“Whoever has taken birth is sure to die and after death-rebirth is certain.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 91. Bhagavad Gita Quotes On Behaviour

“दूसरों के साथ वैसा व्यवहार न करें जैसा आप दूसरों के व्यवहार को पसंद नहीं करते हैं.”

“Do not treat others the way you do not like the behavior of others.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 92. Bhagavad Gita Quotes On Welfare

“मानव कल्याण भगवद गीता का मुख्य उद्देश्य है, इसलिए मनुष्य को अपने कर्तव्यों का पालन करते हुए मानव कल्याण को प्राथमिकता देनी चाहिए.”

“Human welfare is the main objective of Bhagavad Gita, therefore man should give priority to human welfare while performing his duties.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 93. Bhagavad Gita Quotes On Challenges

“मनुष्य को जीवन की चुनौतियों से भागना नहीं चाहिए या भाग्य और ईश्वर की इच्छा जैसे बहाने का उपयोग नहीं करना चाहिए.”

“Man should not run away from the challenges of life or use excuses like fate and the will of God.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 94. Bhagavad Gita Quotes On God

“स्वयं को ईश्वर को समर्पित कर दो, यही सबसे बड़ा सहारा है, जिसने भी इस सहारे को पहचान लिया है, वह भय, चिंता और दुःख से मुक्त रहता है.”

“Submit yourselves to God, this is the greatest support, whoever has recognized this support remains free from fear, worry, and sorrow.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 95. Bhagavad Gita Quotes On 5 Elements

“न तो यह शरीर तुम्हारा है और न ही तुम इस शरीर के मालिक हो, यह शरीर 5 तत्वों से बना है – अग्नि, जल, वायु, पृथ्वी और आकाश, एक दिन यह शरीर इन 5 तत्वों में विलीन हो जाएगा.”

“Neither this body is yours nor you are the owner of this body, this body is made up of 5 elements – fire, water, air, earth, and sky, one day this body will merge into these 5 elements.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 96. Bhagavad Gita Quotes On Deeds

“कोई भी व्यक्ति जन्म से नहीं बल्कि अपने कर्मों से महान बनता है.”

“No man becomes great by birth but by his deeds.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 97. Bhagavad Gita Quotes On Life Truth

“तुम व्यर्थ चिंता क्यों करते हो? तुम क्यों डरते हो? तुम्हें कौन मार सकता है? आत्मा कभी जन्म नहीं लेती और न ही कोई इसे मार सकता है, यही जीवन का अंतिम सत्य है.”

“Why do you worry in vain? Why are you afraid? Who can kill you? Soul never takes birth nor can anyone kill it, that is the ultimate truth of life.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 98. Bhagavad Gita Quotes On God 

“मन, इंद्रियों, श्वास और भावनाओं की गतिविधियों के माध्यम से ईश्वर की शक्ति हमेशा आपके साथ है.”

“The power of God is always with you through the movements of the mind, senses, breathing, and feelings.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 99. Bhagavad Gita Quotes On Wise Man

“बुद्धिमान व्यक्ति को समाज के कल्याण के लिए आसक्ति के बिना काम करना चाहिए.”

“The wise man should work without attachment for the welfare of the society.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 100. Bhagavad Gita Quotes On Willpower

“अपनी इच्छा शक्ति के साथ अपने आप को नया रूप दें, स्वयं को कभी भी स्वयं की इच्छा से निराश न होने दें.”

“Reshape yourself with the power of your will; never let yourself be let down by self-will.”

– From Bhagavad Gita

*****

# 101. Bhagavad Gita Quotes On Senses

“इंद्रियों की दुनिया में कल्पित सुखों की शुरुआत और अंत है और दुख को जन्म देते है.”

“The world of the senses has a beginning and an end of imagined pleasures and gives rise to misery.”

– From Bhagavad Gita

*****