चींटियों के बारे में रोचक जानकारी और तथ्य – Interesting information and facts about Ants

चींटियों के बारे में रोचक जानकारी और तथ्य - Interesting information and facts about Ants

Ant facts and information in Hindi – हमारी दुनिया में पर्यावरण का संतुलन बनाए रखने के लिए प्रकृति ने सभी छोटे और बड़े जीवों को एक महत्वपूर्ण तरीके से बनाया है. इन्हीं छोटे जीवों में से एक है चींटी (Ant).

आप चींटियों (Facts Of Ant) को सामाजिक प्राणी भी कह सकते हैं क्योंकि वे हर जगह पाई जाती हैं, चाहे वह गांव हो या शहर, वे हमेशा कॉलोनियों में रहते हैं.

चीटियां धरती पर लगभग हर जगह पाई जाती हैं. केवल अंटार्कटिका, ग्रीनलैंड, आइसलैंड और कुछ द्वीप राष्ट्रों में चींटियों के अस्तित्व का दावा नहीं किया जा सकता है.

इस लेख में हम आपको चींटियों के बारे में ऐसे रोचक तथ्य (Ant Facts In Hindi) और जानकारी (Ant Information) बताएंगे, जिसे जानकर आप जरूर हैरान रह जाएंगे.

चींटियों के बारे में रोचक तथ्य  – Facts about Ants in Hindi

#1. चीटियां हाइमनोप्टेरा (Hymenoptera) कीट समूह से संबंधित हैं, जिसमें ततैया (Wasps) और मधुमक्खियां (Bees) भी शामिल हैं.

#2. नए शोध के अनुसार, पृथ्वी पर चींटियों की उत्पत्ति 140 से 168 मिलियन वर्ष पूर्व यानि जुरासिक काल के दौरान हुई थी.

#3. चींटियों की 12,000 से अधिक प्रजातियां पाई जाती हैं, जिनमें से अधिकांश काले, भूरे या लाल रंग की होती हैं, लेकिन कुछ जगहों पर हरी चींटियां (Green Ants) भी पाई जाती हैं.

#4. चीटियां निश्चित रूप से आकार में छोटी होती हैं, लेकिन वह बेहद बलवान होती हैं और उनमें अपने शरीर के वजन का 10 से 50 गुना भार उठाने की क्षमता होती है.

#5. अधिकांश प्रजातियां अपना घोंसला मिट्टी, पत्तों के कूड़े या सड़ने वाले पौधों में बनाती हैं.

#6. चीटियां सभी कीड़ों में सबसे लंबे समय तक जीवित रहती (Longest-lived Insect) हैं, यह 30 साल तक जीवित रहती हैं.

#7. चींटी रानी (Ant queen) 30 साल तक जीवित रह सकती है, और श्रमिक चीटियां 1 से 3 साल तक जीवित रहते हैं.

#8. चींटियों के कान नहीं होते हैं, लेकिन वे अपने पैरों के भीतर विशेष अंगों के माध्यम से कंपन ध्वनि का पता लगा सकते हैं.

#9. चींटियों के शरीर में फेफड़े (Lungs) नहीं पाए जाते हैं. उनके शरीर में छोटे-छोटे छिद्र होते हैं जिनसे ऑक्सीजन प्रवेश करती है और कार्बन डाइऑक्साइड बाहर निकलती है.

#10. चींटियों के दो पेट होते हैं, इसलिए नहीं कि वे लालची होती हैं. वास्तव में, वे एक पेट में अपने लिए और दूसरे पेट में दूसरों के लिए भोजन जमा करते हैं.

चींटियों के बारे में रोचक तथ्य  – Interesting Ants Facts In Hindi

#11. चींटी अपने आकार के मामले में दुनिया के सबसे मजबूत जीवों (Strongest creatures) में से एक है.

#12. चींटियां अक्सर झपकी लेती रहती हैं और बहुत आलसी भी होती हैं.

#13. चींटी की प्रजाति दुनिया के सबसे जहरीले कीट (Most venomous insect) में से एक है.

#14. जब कॉलोनी की रानी की मृत्यु हो जाती है, तो कॉलोनी केवल कुछ महीनों तक ही जीवित रह सकती है.

#15. अब तक मिली चींटियों की सबसे बड़ी कॉलोनी 6000 किलोमीटर (3750 मील) चौड़ी थी.

#16. आपको जानकर हैरानी होगी कि चींटियां एक वर्ग मील में प्रति वर्ष अनुमानित 50 टन मिट्टी को स्थानांतरित करती हैं.

#17. चीटियों की अधिकांश प्रजातियां पानी के भीतर लगभग 24 घंटे तक जीवित रह सकती हैं.

#18. फेफड़ों की कमी के कारण चींटियां पूरे दिन पानी के भीतर रह सकती हैं.

#19. वर्तमान में पृथ्वी पर लगभग 1,000,000,000,000,000 (10 क्वाड्रिलियन) चीटियां मौजूद हैं. एक स्रोत का अनुमान है कि दुनिया में लगभग एक चौथाई चीटियां हैं.

#20. वैज्ञानिकों का अनुमान है कि हर इंसान के लिए पृथ्वी पर कम से कम 15 लाख चींटियां हैं.

चींटियों के बारे में रोचक तथ्य  – Amazing Facts About Ants In Hindi

#21. अगर दुनिया के सभी इंसानों का द्रव्यमान और दुनिया में सभी चींटियों का द्रव्यमान मापा दिया जाए, तो यह बराबर होगा.

#22. चीटियां आधिकारिक तौर पर दुनिया की सबसे चतुर कीट हैं. इनमें 250,000 मस्तिष्क कोशिकाएं (brain cells) होती हैं.

#23. बहुत से लोग मानते हैं कि चींटियों के खून का रंग नीला होता है, लेकिन हकीकत में ऐसा नहीं है. चींटियों का खून पूरी तरह से रंगहीन होता है.

#24. चीटियां लड़ाकू प्रवृत्ति की होती हैं. अगर उनमें लड़ाई होती है तो वे मरते दम तक हार नहीं मानते और लड़ते रहते हैं.

#25. मरने के बाद चींटियों के शरीर से ओलिक एसिड (Oleic Acid) नामक रसायन निकलता है, जिससे अन्य चींटियों को पता चलता है कि वह चींटी मर चुकी है.

#26. यदि ओलिक एसिड किसी दूसरी चींटी पर पर छिड़का जाता है, तो अन्य चीटियां उसे भी मृत समज़ने लगती है.

#27. धरती पर इंसान और चींटियां ही दो ऐसे जीव हैं जो अपना भोजन जमा (Store) करके रखते हैं.

#28. एशियाई वीवर चींटी (Asian Weaver Ant) अपने भार से 100 गुना ज्यादा भार उठा सकती है.

#29. दुनिया के कई हिस्सों में इंसानों द्वारा चीटियों को लजीज व्यंजन के तौर पर खाया जाता है.

#30. शोधकर्ताओं ने पाया है कि कुछ अमेजोनियन चींटियां (Amazonian Ants) क्लोनिंग के माध्यम से प्रजनन करती हैं. यह बताया गया है कि रानी चींटियां बेटियां पैदा करने के लिए आनुवंशिक रूप से खुद की नकल करती हैं.

चींटियों के बारे में रोचक तथ्य  – Ant Facts In Hindi

#31. फायर चींटियां (Fire ants) उत्तरी अमेरिका में प्रति वर्ष अनुमानित $5 बिलियन का नुकसान करती हैं.

#32. चींटियों की कुछ प्रजातियों के बिल जमीन में 2 फीट तक गहरे होते हैं.

#33. शरीर की संरचना और वजन के कारण चींटियों को ऊंची इमारत या हवाई जहाज से फेंकने पर भी चोट नहीं लगती है.

#34. दुनिया की सबसे छोटी चींटी दुनिया की सबसे बड़ी चींटी के दिमाग में फिट हो सकती है.

#35. फिरौन चींटी (Pharaoh Ant) दुनिया की सबसे छोटी (2 मिमी) चींटी प्रजाति है.

#36. दुनिया की सबसे बड़ी चींटी टाइटेनोमिर्मा गिगेंटम (Titanomyrma giganteum) प्रजाति की है, जिसके पंख 6 इंच के होते हैं. यह अब तक पाई जाने वाली सबसे बड़ी विशालकाय चींटी है, जो सबसे बड़ी मौजूदा विशालकाय चींटियों से भी बड़ी है.

#37. Paraponera Clavata चींटी की एक प्रजाति है, जिसे आमतौर पर बुलेट चींटी (Bullet Ant) के रूप में जाना जाता है, जिसका नाम इसके बेहद दर्दनाक डंक के कारण रखा गया है. उनके क्रिटर्स 1.6 इंच तक लंबे हो सकते हैं.

#38. बुलेट चींटी (Bullet Ant) का डंक किसी भी कीड़े में सबसे ज्यादा दर्द देने वाला होता है. इसके जहर से भरे डंक का असर 24 घंटे तक रह सकता है. इसकी तुलना आपकी उंगली को 240 वोल्ट के सॉकेट में डालने से की गई है.

#39. ब्लैक गार्डन चींटी (Black Garden Ant) का जीवन काल (15 वर्ष) कुत्ते की तुलना में अधिक लंबा होता है.

#40. Guinness World Records के अनुसार, दुनिया की सबसे खतरनाक चींटी ऑस्ट्रेलियाई बुलडॉग चींटी (Bulldog Ant) है. माना जाता है कि इसके कारण 1936 से अब तक कम से कम 3 लोगों की मौत हुई है.

#41. अमेज़ॅन वर्षावन (Amazon Rainforest) में पाई जाने वाली फायर चींटी (Fire Ant) अपने पैरों को आपस में जोड़कर एक बेड़े का आकार ले लेती है. यह तकनीक उन्हें नदियों में तैरने और जंगल में यात्रा करने में मदद करता है.

#42. Slave-making ants – गुलाम बनाने वाली चींटियां, जैसा कि उनके नाम का तात्पर्य है, जो दुश्मन प्रजातियों की अन्य चींटियों की कॉलोनियों से अंडे चुराती हैं और युवाओं को श्रमिक गुलाम बनाती हैं.

#43. मध्य और दक्षिण अमेरिका में बड़े जबड़े और दर्दनाक डंक वाली आर्मी चीटियां (Army ants) पाई जाती हैं, जो बिलों में नहीं रहती हैं. ये चीटियां हमेशा चलती रहती हैं और अत्यधिक प्रभावी शिकारी होती हैं.

क्या चीटियां देख सकती हैं? Can ants see?

आपके मन में कभी न कभी यह सवाल जरूर आया होगा कि क्या चीटियों की आंखें होती हैं? दरअसल दोस्तों अधिकांश चींटियों की दो बड़ी यौजिक आंखें होती हैं.

चीटियों की नजर (Vision of ants) सिर्फ 1-2 फीट तक ही देखने योग्य होती है. ऐसा इसलिए है क्योंकि चींटियां अपनी आंखों का ज्यादा इस्तेमाल आसपास देखने के लिए नहीं करती हैं.

अपने सिर पर बने दो एंटीना के माध्यम से, वे वस्तुओं को समझते हैं और उनका पता लगाते हैं, अपने घोंसले के साथी की पहचान करते हैं, और दुश्मनों तथा खतरों को भी महसूस करते हैं.

इनकी आंखों में कई छोटे-छोटे लेंस होते हैं, जिसकी वजह से ये हर दिशा में एक साथ देख पाते हैं. वैसे तो कई चींटियां ऐसी होती हैं जो पूरी तरह से अंधी होती हैं.

चींटी का जीवन चक्र – Ant life cycle in Hindi

अन्य सामाजिक कीड़ों (मधुमक्खियों, तितलियों, ततैया) की तरह चींटियों का जीवन काल चार चरणों में पूर्ण रूप से कायापलट से गुजरता है.

1) अंडा (egg) 

2) लार्वा (larva) 

3) प्यूपा (pupa) 

4) वयस्क (adult). 

लार्वा अवस्था में इसे मिलने वाला पोषण और देखभाल इसके वयस्क रूप को निर्धारित करता है.

जिन लार्वा को अच्छा भरण-पोषण मिलता है उनके पंख विकसित हो जाते हैं और वे रानी चींटियां (Queen Ants) बन जाते हैं.

खाद्य स्रोतों की कमी के कारण पर्याप्त पोषण प्राप्त नहीं करने वाले लार्वा श्रमिक चींटियों (Worker Ants) में विकसित होते हैं जिनके पंख नहीं होते हैं.

चींटियों के बस्ती के बारे में – About ant colonies in Hindi

Essay On Ant In Hindi – प्रजातियों के आधार पर, चींटियों की कॉलोनियों में सैकड़ों से लेकर लाखों चींटियां हो सकती हैं.

चींटियों की कॉलोनी में 3 प्रकार की चीटियां होती हैं: रानी चींटी (Queen ant), मादा श्रमिक (Female workers) और नर चीटियां (Male ants).

रानी चींटी का आकार अन्य चींटियों से बड़ा होता है. रानी और नर चींटियों के पंख होते हैं, जबकि श्रमिक चींटियों के पंख नहीं होते.

रानी चींटी, जिसका एकमात्र उद्देश्य प्रजनन करना और हजारों अंडे देने का होता है ताकि उनकी कॉलोनी मजबूत और शक्तिशाली बनी रहे.

नर चींटी का मुख्य कार्य केवल रानी चींटी के साथ ही संभोग करना होता है. उसके बाद वे अधिक समय तक जीवित नहीं रहते.

हांलाकि रानी अपनी संक्षिप्त संभोग अवधि के दौरान कई नर चीटियों के साथ संभोग कर सकती है, लेकिन वह फिर कभी संभोग नहीं करती. एक बार जब एक रानी चींटी सहती है, तो उसके पंख झड़ जाते हैं.

चींटियों की कॉलोनी में काम करने वाली ज्यादातर चींटियां श्रमिक चींटियां मादा होती हैं. ये सभी मादा चींटियां बांझ (Sterile) होती हैं और प्रजनन में कोई योगदान नहीं करती हैं.

श्रमिक चीटियां घोंसले का निर्माण और मरम्मत करती हैं, भोजन की आपूर्ति करती हैं, लार्वा (युवा) की देखभाल करती हैं, और घोंसले को साफ रखती हैं.

मादा श्रमिक चीटियां अपने घोंसलों से 200 मीटर तक की लंबी दूरी तय कर सकती हैं. यह एक छोटे से जीव के लिए एक लंबी दूरी है.

रानी चींटी के मरने के बाद कॉलोनी की बाकी चींटियां ज्यादा दिन जीवित नहीं रहती हैं और कुछ ही महीनों में मर जाती हैं.

जब कई चींटी कॉलोनियां एक बड़े क्षेत्र में एकजुट हो जाती हैं, तो वे एक सुपर कॉलोनी (Super Colony) बनाती हैं जिसमें 300 मिलियन तक चींटियां हो सकती हैं.

चीटियां एक लाइन में ही क्यों चलती है? Why do ants walk in a line?

अगर आपने चींटियों की हरकतों को करीब से देखा है, तो आपके सामने एक सवाल आया होगा कि चींटियां एक लाइन में क्यों चलती हैं? Why do ants walk in queues?

लेकिन क्या आप जानते हैं की ऐसा क्यों है? आइए हम आपको बताते हैं कि इसके पीछे की असली वजह क्या है?

आखिर क्या कारण है कि चींटियां एक ही लाइन में चलती हैं, तो इसका उत्तर फेरोमोन (Pheromones) नामक रसायन है जो चींटियां चलते समय छोड़ती हैं.

अगर आपने गौर किया है तो चींटियों की आंखें होती हैं, लेकिन हम आपको बता दें कि ये आंखें सिर्फ दिखावे के लिए होती हैं, दरअसल चींटियां अंधी होती हैं, उन्हें दिखाई नहीं देता हैं.

छोटी हो या बड़ी, चींटियां अक्सर कतार में चलते हुए नजर आती हैं. वे ऐसा करने में सक्षम होती हैं क्योंकि चलते समय, ये चींटियां फेरोमोन (Pheromones) नामक रसायन का स्राव करती हैं, जिसकी गंध को सूंघकर पीछे की चींटी सामने वाली चींटी का पीछा करती है और इस तरह एक कतार बन जाती है.

यही कारण है कि चींटियां एक लाइन में चलती हैं.

Ant FAQ

चींटियोंका वैज्ञानिक नाम क्या है? What is the scientific name of ants?

चींटियों का वैज्ञानिक नाम Formicidae है.

चींटियों के अध्ययन को क्या कहते हैं? What is the study of ants called?

चींटियों के अध्ययन को Myrmecology के नाम से जाना जाता है.

चीटियां क्या खाती है? What do ants eat?

चीटियां सर्वाहारी (Omnivores) होती हैं, जिसका अर्थ है कि वे पेड़-पौधों और अन्य जीवों दोनों को खाती हैं. आपने देखा होगा कि चींटी को जहां भी कोई खाद्य पदार्थ मिलता है, वह उसके चारों ओर चिपक जाती है.

चींटियों का मुख्य भोजन क्या है? What is the main food of ants?

वैसे चींटियां फल, पेड़-पौधों के बीज, मीठी चीजें खाती हैं और जानवरों का मांस भी खाती हैं.

क्या चीटियां पानी पीती हैं? Do ants drink water?

अन्य जीवों की तरह, चींटियों को जीवित रहने के लिए पानी की आवश्यकता होती है, लेकिन वे अन्य कीड़ों की तरह पानी के बड़े स्त्रोत पर निर्भर नहीं होती हैं. कई चीटियां अपने द्वारा खाए गए भोजन से पानी प्राप्त करती हैं.

चींटियों को सामाजिक प्राणी क्यों कहा जाता है? Why are ants called social animals?

आपने देखा होगा कि चींटियां समूह बनाकर जमीन के नीचे अपना घोंसला बनाकर एक जगह पर रहती हैं. सभी चीटियां एक साथ काम करती हैं, इसी कारण चींटियों को सामाजिक प्राणी कहा जाता है.

जिस तरह इंसान समाज में रहकर अपना कामकाज करता है, उसी तरह चींटियां भी अपना काम करती हैं.

चींटी के काटने पर क्या करें? What to do if ant bites?

डंक वाली जगह को साबुन और पानी से धोएं, फिर उस जगह पर एंटीसेप्टिक लगाएं. अगर सूजन और जलन की समस्या ज्यादा हो तो तुरंत डॉक्टर से उपचार लेना चाहिए.

संबंधित लेख पढ़ें:

अगर आपको Ant facts and information in Hindi जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.