Monthly Archive: April 2020

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): दसवां अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Tenth

१. जिसके पास धन नहीं है वो गरीब नहीं है, वह तो असल में धनी है, यदि उसके पास विद्या है. लेकिन जिसके पास विद्या नहीं है वह तो सब प्रकार से निर्धन है. 1. One destitute of wealth is not destitute, he is indeed rich (if he is learned);...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): नवां अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Ninth

१. तात, यदि तुम जन्म-मरण के चक्र से मुक्त होना चाहते हो तो जिन विषयों के पीछे तुम इन्द्रियों की संतुष्टि के लिए भागते फिरते हो उन्हें ऐसे त्याग दो जैसे तुम विष को त्याग देते हो. इन सब को छोड़कर हे तात तितिक्षा, ईमानदारी का आचरण, दया, शुचिता और...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): आठवां अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Eighth

१. नीच वर्ग के लोग दौलत चाहते है, मध्यम वर्ग के दौलत और इज्जत, लेकिन उच्च वर्ग के लोग सम्मान चाहते है क्योंकि सम्मान ही उच्च लोगो की असली दौलत है. 1. Low class men desire wealth; middle class men both wealth and respect; but the noble, honour only; hence...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): सातवां अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Seventh

१. एक बुद्धिमान व्यक्ति को निम्नलिखित बातें किसी को नहीं बतानी चाहिए… (१) उसकी दौलत खो चुकी है (२) उसे क्रोध आ गया है (३) उसकी पत्नी ने जो गलत व्यवहार किया (४) लोगों ने उसे जो अपशब्द कहे (५) वह किस प्रकार बेइज्जत हुआ है 1. A wise man...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): छठवां अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Sixth

१. श्रवण करने से धर्म का ज्ञान होता है, द्वेष दूर होता है, ज्ञान की प्राप्ति होती है और माया की आसक्ति से मुक्ति होती है. 1. By means of hearing one understands dharma, malignity vanishes, knowledge is acquired, and liberation from material bondage is gained. २. पक्षियों में कौवा...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): पांचवा अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Fifth

१. ब्राह्मणों को अग्नि की पूजा करनी चाहिए. दूसरे लोगों को ब्राह्मण की पूजा करनी चाहिए. पत्नी को पति की पूजा करनी चाहिए तथा दोपहर के भोजन के लिए जो अतिथि पधारे उसकी सभी को पूजा करनी चाहिए. 1. Agni is the worshipable person for the twice born; the brahmana...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): चौथा अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Fourth

१. आचार्य चाणक्य के अनुसार निम्नलिखित बातें माता के गर्भ में ही निश्चित हो जाती है….(१) व्यक्ति कितने साल जियेगा (२) वह किस प्रकार का काम करेगा (३) उसके पास कितनी संपत्ति होगी (४) उसकी मृत्यु कब होगी. 1. These five: the life span, the type of work, wealth, learning and the time...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): तीसरा अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Third

१. इस दुनिया मे ऐसा किसका घर है जिस पर कोई कलंक नहीं, वह कौन है जो रोग और दुख से मुक्त है. सदा सुख किसे प्राप्त होता है? 1. In this world, whose family is there without blemish? Who is free from sickness and grief? Who is forever happy?...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): द्वितीय अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter Second

१. झूठ बोलना, कठोरता, छल करना, बेवकूफी करना, लालच, अपवित्रता  और निर्दयता ये औरतों के कुछ नैसर्गिक दुर्गुण है. 1. Untruthfulness, rashness, guile, stupidity, avarice, uncleanliness and cruelty are a woman’s seven natural flaws. २. भोजन के योग्य पदार्थ और भोजन करने की क्षमता, सुन्दर स्त्री और उसे भोगने के...

Chanakya Neeti (In Hindi) 0

चाणक्य नीति ( हिंदी में ): प्रथम अध्याय – Chanakya Neeti (In Hindi): Chapter First

१.  तीनों लोको के स्वामी सर्वशक्तिमान भगवान विष्णु  को नमन करते हुए मैं एक राज्य के लिए नीति शास्त्र के सिद्धांतों को कहता हूँ.  मैं यह सूत्र अनेक शास्त्रों का आधार ले कर कह रहा हूँ.  1. Humbly bowing down before the almighty Lord Sri Vishnu, the Lord of the...