10 सामान्य आदतें जो आपकी किडनी को नुकसान पहुंचा सकती हैं (10 Common Habits That May Harm Your Kidneys)

Common Habits That May Harm Your Kidneys

किडनी हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण और शरीर की सफाई करने वाला अंग है. अगर यह ठीक से काम नहीं करता है, तो शरीर कई जानलेवा बीमारियों का घर बन जाता है. किडनी शरीर में जमा विषाक्त पदार्थों को मूत्र के रूप में शरीर से बाहर निकालकर रक्त को साफ और फ़िल्टर कर के हृदय में वापस भेजने में भी मदद करती है, तथा शरीर में खनिज और आवश्यक एसिड को संतुलित रखने में मदत करती है. 

यहां हम आपको उन दस सामान्य आदतों के बारे में बताने जा रहे है, जो आपकी किडनी को नुकसान पहुंचा सकते हैं.

1. दर्द निवारक दवाओं का अधिक उपयोग (Excessive use of painkillers)

दवाएं जो आपको पीड़ा और दर्द में राहत देती हैं, ऐसी दवाएं अक्सर किडनी को नुकसान पहुंचा सकती हैं. खासकर अगर आप पहले से ही किडनी की बीमारी से पीडित है, तो यह आपके लिए काफी हानिकार साबित हो सकता है. दर्द निवारक दवाओं का नियमित उपयोग कम करें और हमेशा डॉक्टर की सलाह से ही ले.

2. नमक का अति सेवन (Excessive salt intake)

नमक में उच्च मात्रा में सोडियम होता है, सोडियम शरीर के लिए लाभदायक होता है. सोडियम एक आवश्यक इलेक्ट्रोलाइट है जो आपके शरीर के कोशिकाओं और पानी का संतुलन बनाए रखने में मदद करता है. यह शरीर के उचित मांसपेशी और तंत्रिका कार्य के लिए महत्वपूर्ण है साथ ही स्थिर रक्तचाप के स्तर को बनाए रखने में भी मदद करता है. लेकिन ज्यादा मात्रा में नमक का सेवन आपका रक्तचाप (blood pressure) बढ़ा देता है, जिससे किडनी पर अतिरिक्त दबाव पडता है. यदि आप नियमित रूप से फल, सब्जियां खाते हैं, तो आपको इन से पर्याप्त मात्रा में सोडियम मिलता है. समय के साथ, आपको अपने भोजन में अतिरिक्त नमक (सोडियम) का उपयोग करने से बचना चाहिए. एक दिन में 5 ग्राम से अधिक नमक न लें.

3. पर्याप्त मात्रा में पानी न पीना (Not drinking enough water)

शरीर को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखने और किडनी को विषाक्त पदार्थों से साफ करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना जरूरी है. पर्याप्त मात्रा में पानी पीना पथरी जैसे दर्दनाक बीमारी से बचने का एक आसान तरीका है. यदि आप बहुत कम मात्रा में पानी पीते हैं, तो आपकी किडनी को रक्त शुद्धि के लिए लगने वाला पानी पर्याप्त मात्रा में नहीं मिलेगा, और आपके रक्त में जमा गंदगी आपके शरीर में ही बनी रहेगी, यह आदत निश्चित रूप से आपकी किडनी खराब कर सकती है. किडनी की समस्याओं या बीमारी वाले लोगों को पानी या तरल पदार्थ के सेवन को प्रतिबंधित करने की आवश्यकता हो सकती है, लेकिन सामान्य लोगों के लिए, प्रति दिन 1.5 से 2 लीटर पानी पीना जरूरी होता है. 

4. पर्याप्त मात्रा में नींद न लेना (Not getting enough sleep)

अच्छी सेहत के लिए एक अच्छी और सुकून-भरी नींद बेहद जरूरी होती है. कम नींद लेने से सेहत संबंधी कई बीमारिया उत्पन्न होती है. जब आप सोते हैं, तो किडनी की नई कोशिकाएं बनने की प्रक्रिया तेजी से बढ़ती हैं. नींद और जागरण के चक्र द्वारा किडनी फंक्शन को नियंत्रित किया जाता है जो कि किडनी के कार्यभार को 24 घंटे समन्वित करने में मदद करता है. इस वजह से, आपको 8 से 10 घंटे की पूर्ण और शांत नींद की आवश्यकता होती है.

5. ज्यादा मात्रा में मांसाहार करना (Eat too much meat)

पशुओं के मांसाहार द्वारा प्राप्त प्रोटीन रक्त में एसिड की उच्च मात्रा उत्पन्न करता है जो किडनी के लिए हानिकारक हो सकता है और अम्लरक्तता (Acidosis) का कारण बन सकता है, अम्लरक्तता एक ऐसी स्थिति है जिसमें किडनी के मेटाबॉलिज्म पर अधिक दबाव पड़ता है, जिससे एसिड को खत्म करने की प्रक्रिया धीमी हो जाती हैं. यदि आप आहार में बहुत अधिक प्रोटीन का सेवन कर रहे हैं, तो इसका मतलब है कि आपके किडनी को अधिक काम करना होगा. शरीर के सभी हिस्सों के विकास, रखरखाव और मरम्मत के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है, इसलिए आपके आहार में फलों और सब्जियों का अच्छी तरह से असंतुलन होना जरूरी है.

6. चीनी/शक्कर की उच्च मात्रा वाले खाद्य पदार्थों का सेवन ( Eating high sugar foods)

चीनी या शक्कर का ज्यादा सेवन करने से मोटापा बढ़ता है, जिसकी वजह से उच्च रक्तचाप और मधुमेह का खतरा बढ जाता है, यह किडनी की बीमारी के प्रमुख कारणों में से दो है. जब तक रक्त में चीनी का स्तर बहुत अधिक नहीं बढ जाता तब तक किडनी के लिए चीनी हानिकारक नहीं मानी जाती, लेकिन यदि आपको मधुमेह है, तो बहुत अधिक चीनी का सेवन किडनी के लिए नुकसानदायक हो सकता है.

7. धूम्रपान (Smoking)

यकीनन, धूम्रपान करना आपके फेफड़ों या आपके दिल के लिए अच्छा नहीं है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि धूम्रपान आपकी किडनी पर भी बुरा असर डालता है, अध्ययनों से पता चला है कि धूम्रपान किडनी के लिए हानिकारक है, और किडनी की बीमारी का कारण बन सकता है और प्रोटीनूरिया (मूत्र में प्रोटीन की अधिक मात्रा) के जोखिम को बढाता है.

8. अतिरिक्त मात्रा में शराब पीना (Drink plenty of liquor)

नियमित रूप से भारी मात्रा में शराब पीना या एक दिन में चार से अधिक पेग पिने की आदत से किडनी के दीर्घकालीन बीमारी का जोखिम को दोगुना बढ जाता है. भारी मात्रा में शराब पिने वाले लोग यदि धूम्रपान भी करते है तो उन्हें किडनी की समस्या होने का खतरा पांच गुना अधिक होता है.

9. पेशाब रोकना (Stop urination)

अपने मूत्राशय को समय पर खाली न करना किडनी की समस्याओं के मुख्य कारणों में से एक है. यदि आप अक्सर पेशाब को रोके रखते हैं, तो मूत्र आपके मूत्राशय में अधिक समय तक जमा रहता है, जिससे मूत्राशय में बैक्टीरिया बहुत तेजी से बढ जाते हैं. आखिरकार, इससे किडनी में संक्रमण और मूत्र असंयम जैसे गंभीर परिणाम हो सकते हैं.

10. लगातार बैठे रहना (Sitting continuously)

अध्ययनों से पता चलता है कि जो लोग हर दिन लंबे समय तक बैठे रहते हैं उनमें मधुमेह, दिल का दौरा और यहां तक कि कैंसर का खतरा अधिक होता है. अब नए शोध से पता चलता है कि लंबे समय तक बैठे रहने से किडनी की बीमारी का खतरा 30% तक बढ़ सकता है.

अगर आपको ये जानकारी अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी करे, हमारे अगले Post प्राप्त करने के लिए हमें करे और हमारा Facebook page करे, अपने सुझाव हमें Comments के माध्यम से दे.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *